छपरा: अधूरे टीकाकरण में रंग भरेगा “मिशन इंद्रधनुष”, चलेगा सघन अभियान

0
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने जारी किया निर्देश
  • शून्य से 2 साल तक बच्चे और गर्भवती महिलाओं का होगा पूर्ण टीकाकरण
  • घर-घर जाकर नियमित टीकाकरण से वंचित बच्चों और गर्भवती महिलाओं की होगी पहचान

छपरा: मातृ शिशु स्वास्थ्य को बेहतर और गुणवत्तापूर्ण बनाने का प्रयास स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किया जा रहा है। नियमित टीकाकरण को सुदृढ भी किया जा रहा है। मातृ और शिशु स्वास्थ्य में नियमित टीकाकरण का महत्वपूर्ण स्थान है। ऐसे में नियमित टीकाकरण को शत-प्रतिशत कराने के लिए अब जिले में सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 अभियान चलाया जायेगा। इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव डॉ. पी अशोक बाबू ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

जारी पत्र में कहा गया है कि महामारी की अवधि के दौरान आयोजित, एनएफएचएस -5 सर्वेक्षण के अनुसार पूर्ण टीकाकरण कवरेज, खसरा, रूबेला और डिप्थीरिया के मामलों की घटनाएं, टीके की रोकथाम योग्य रोग (वीपीडी) निगरानी और जनसांख्यिकीय जोखिम कारक की गुणवत्ता के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान चलाया जायेगा। जिले में फरवरी से अप्रैल माह तक यह अभियान चलाया जायेगा।

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित होगी गतिविधियां

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान की गतिविधियां संचालित करने का निर्देश दिया गया है। जनवरी 2022 के पहले सप्ताह तक आईएमआई 4.0 की तैयारी के साथ-साथ टीकाकरण कवरेज और सिस्टम अंतराल में अंतराल का आकलन करने के लिए राज्य संचालन समिति की बैठक होगी। आईएमआई 4.0 जिले में प्रत्येक एएनएम के लिए आरसीएच पोर्टल के लिए यूजर आईडी तैयार करने के साथ-साथ संवेदीकरण प्रशिक्षण तत्काल आधार पर शुरू किया जाएगा।

सभी लक्षित लाभार्थियों का पंजीकरण

जिले में 0-2 वर्ष के बीच के बच्चे अर्थात 1 जनवरी 2020 को या उसके बाद पैदा हुए और गर्भवती महिलाओं को RCH पोर्टल पर दिसंबर 2021 के अंत तक पूरा किया जाना चाहिए। यह होना है केवल उन मामलों के लिए जो पहले आरसीएच पोर्टल (आरसीएच आईडी उपलब्ध नहीं) पर पंजीकृत नहीं हैं। को-विन पोर्टल रिवर्स एपीआई लिंकेज के माध्यम से आरसीएच पोर्टल पर पंजीकरण की सुविधा भी प्रदान करेगा। इस संबंध में एसआईओएस के साथ एक अलग सत्र आयोजित किया जाएगा।

घर-घर जाकर होगा सर्वेक्षण

सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए टीकाकरण से वंचित 0 से 2 वर्ष तक बच्चों और गर्भवती महिलाओं का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया जायेगा। बच्चों की सूची का सर्वेक्षण और देय सूची तैयार करना और संबंधित एएनएम को जलग्रहण क्षेत्रों की मैपिंग के साथ-साथ उचित रिपोर्टिंग के साथ विस्तृत माइक्रोप्लानिंग इस मिशन को सफल बनाने के लिए प्रमुख गतिविधियां हैं। प्रत्येक बच्चे और गर्भवती महिलाओं का पूर्ण टीकाकरण सुनिश्चित करने के प्रयास में अपनी निरंतर निगरानी और सहयोग प्रदान किया जायेगा।