छपरा: डॉक्टरी की पढ़ाई करने गई सारण की बेटी यूक्रेन में फंसी

0

छपरा: इसुआपुर प्रखंड के शामपुर गांव के अनिल तिवारी की पुत्री अंकिता अनिल तिवारी यूक्रेन के सारक्यू मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरी की पढ़ाई कर रही है. वह मेडिकल के चौथे वर्ष की छात्रा है. लेकिन अचानक यूक्रेन की स्थिति विस्फोटक हो जाने से उसके पिता तथा माता रेणु तिवारी काफी परेशान हो गए हैं. बेटी की सकुशल वापसी के लिए भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं वही भारत सरकार से बेटी की वापसी की गुहार लगा रहे हैं. अंकिता मुंबई के केवी पेनढरकर कॉलेज से इंटर की पढ़ाई कर यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई कर रही है

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

.अचानक बदले माहौल में घर वापसी के लिए पिता अनिल तिवारी माता रेणू तिवारी तथा परिजन बेहद चिंतित हैं . पिता अनिल तिवारी ने बताया कि उनकी बेटी वहां हर समय खुश रहती है तथा अपने आसपास के बच्चों को भी खुश रखती है. पर आज वह घर वापसी के लिए परेशान है. उसके बातों में दर्द झलक रहा है. घर वापसी के लिये छात्रों के एक दल के साथ अंकिता खारकीउ से मेट्रो द्वारा कीव पहुंची जहां से मेट्रो द्वारा बिनितसा आई .बिनितसा से 20 छात्रों ने बस रिजर्व कर रोमानिया बॉर्डर के लिए चले लेकिन रोमानिया बॉर्डर से 7 किलोमीटर पहले ही बस से बच्चों को उतार दिया गया.

जहां से सारी रात माइनस डिग्री सेल्सियस में चलने के बाद रोमानिया पहुंची हैं.जहां से भारत आने की उम्मीद जगी है उसके चाचा रामायण तिवारी बहन रितिका तिवारी ,विनय सिंह बच्चा राय,हरेंद्र सिंह संजय तिवारी ,विजय तिवारी ,डॉ प्रमोद सिंह, विकास तिवारी ,अमित तिवारी, मिलिंद तिवारी ,सुनील तिवारी आदि उसके वापसी के लिए भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं.