छपरा: शिक्षा के माध्यम से हम अपने परिवार और समाज को बदल सकते है: डॉ मधु प्रभा

0

छपरा: जयप्रकाश महिला महाविद्यालय में नव नामांकित छात्राओं के लिए एक ओरियंटेशन प्रोग्राम ‘लक्ष्य -2021’ का आयोजन महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. मधु प्रभा सिंह की अध्यक्षता में सफलतापूर्वक किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन तथा छात्राओं द्वारा कुल गीत और स्वागत गीत के साथ किया गया। प्राचार्या ने अपने अध्यक्षीय भाषण में छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में अपने लक्ष्य को पाने के लिए हमें महाविद्यालय अग्रसर होना ही पड़ेगा। शिक्षा के माध्यम से हम अपने परिवार, समाज और विश्व को बदल देते हैं। जीवन में आ रही कठिनाइयों से भागना नहीं है बल्कि उसका सामना करते हुए अपने लक्ष्य तक पहुंचना है। प्राचार्या ने शिक्षक और छात्रों के संबंध को अटूट बताते हुए कहा कि गुरु हमेशा अपने शिष्यों को अज्ञानता के अंधकार से निकाल कर ज्ञान के प्रकाश की ओर ले जाते हैं। छात्राओं को महाविद्यालय आने के लिए प्राचार्या ने मंच से अपील करते हुए कहा कि आप महाविद्यालय आकर अपने जीवन को सफल तथा सपनों को साकार करें। हिंदी विभाग की विभागाध्यक्ष की डॉ रेखा श्रीवास्तव ने भी छात्राओं को महाविद्यालय आने के लिए प्रोत्साहित किया तथा कहा कि शिक्षा से ही आप का सर्वांगीण विकास संभव है। गृह विज्ञान की विभागाध्यक्ष डॉ. मंजू सिन्हा ने भी सभी नवागंतुक को आशीर्वाद देते हुए महाविद्यालय आकर शिक्षा ग्रहण करने की बात कही।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ad-mukhiya

जंतु विज्ञान विभाग की प्रोफ़ेसर मुग्धा ने नयी छात्राओं को पाठ्यक्रम तथा शिक्षकों से उनका परिचय कराते हुए सभी विषयों के बारे में संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया। अंग्रेजी विभाग की डॉ विनीता ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आखिर उन्हें कॉलेज आने के लिए क्यों कहा जाता है और कॉलेज आने से उनके जीवन में, उनके व्यवहार में क्या परिवर्तन आएगा। इतिहास विभाग के डॉ चंदन ने भी ‘महिला एवं शिक्षा महिला शिक्षा का महत्व’ पर अपने विचारों को उजागर किया तथा उसकी महत्ता पर प्रकाश डाला। डॉ. अलीना अली मलिक उर्दू विभाग की उन्होंने ने भी विद्यालय में पठन-पाठन के अलावे पाठ्य सहगामी गतिविधियों का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया और उसमें छात्राओं को बढ़-चढ़कर भाग लेने के लिए प्रोत्साहित भी किया।

इस कार्यक्रम में महाविद्यालय के सभी अध्यापक गण ने मंच से छात्राओं को महाविद्यालय आने के लिए प्रेरित किया तथा उनसे अपील की कि महाविद्यालय आ कर अपने भविष्य को निखारे और उज्ज्वल बनावें। उपस्थित शिक्षकों में डॉ रिंकी, डॉ अर्चना, डॉ सोनाली , डॉ विनीता, डॉ शिखा , प्रो.चंचल, प्रो. नम्रता, डॉ नीतू, डॉ अमरेंद्र, डॉ. वशिष्ठ, प्रो. सनोज आदि उपस्थित रहें। कार्यक्रम का संचालन अंग्रेजी विभाग की अनंदिता, अपर्णा के द्वारा किया गया।

महाविद्यालय की छात्राओं में आकांक्षा,सिल्की,दिव्या,प्रीति, सोनम तथा रागिनी ने महाविद्यालय तथा शिक्षकों के प्रति अपने स्नेह तथा अनुभव को नव आगंतुक छात्राओं से साझा किया। महाविद्यालय परिवार के अभिन्न अंग शिक्षकेत्तर सहयोगी गण ने भी अपना परिचय छात्राओं को दिया जिसमें शाखा पदाधिकारी डॉ. मनीषा, आलोक कुमार आदि उपस्थित रहें। हिंदी दिवस के कार्यक्रम में विजेता रही प्रतिभागियों को प्राचार्या के द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन अंग्रेजी विभाग की प्रो. चंचल जी के द्वारा किया गया।इस कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संपन्न कराने में पूरे महाविद्यालय परिवार का भरपूर सहयोग रहा।