छपरा: आयुष्मान पखवाड़ा को लेकर कार्यपालक सहायकों को दिया गया प्रशिक्षण

0
  • प्रत्येक गोल्डन हेल्थ कार्ड बनाने पर कार्यपालक सहायकों को मिलेगा ₹5 का इंसेंटिव
  • सदर अस्पताल में प्रशिक्षण शिविर का हुआ आयोजन
  • पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर बनेगा आयुष्मान कार्ड

छपरा: प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड बनाने की कवायद तेज कर दी गई है। इसको लेकर जिले में 17 फरवरी से 3 मार्च तक आयुष्मान पखवाड़ा का आयोजन किया जाएगा। जिसके तहत पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर लाभार्थियों को आयुष्मान गोल्डेन हेल्थ ई-कार्ड बनाया जाएगा। इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर शनिवार को सदर अस्पताल के पारा मेडिकल संस्थान में सभी पंचायतों के कार्यपालक सहायकों का एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें डेमो के माध्यम से कार्यपालक सहायकों को यह जानकारी दी गई कि लाभार्थियों का कैसे गोल्डन ई-कार्ड जनरेट करना है और उसके लिए कौन कौन से दस्तावेज आवश्यक है। आयुष्मान भारत के प्रमंडलीय समन्वयक संजय कुमार यादव, जिला समन्वयक नीरज कुमार, आयुष्मान मित्र राजीव गर्ग तथा जिला आईटी मैनेजर अभिनव कुमार के द्वारा पीपीटी के माध्यम से कार्यपालक सहायकों को ट्रेनिंग दी गई। आयुष्मान भारत के प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक संजय कुमार यादव ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गरीब तबके के लोगों को पांच लाख तक का इलाज सरकारी और सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में मुफ्त की जाती है। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गरीब लोगों को स्वास्थ्य बीमा का लाभ सरकारी और निजी अस्पताल में मिल रहा है। जिसके लिए सभी सबंधित लोगों का गोल्डन कार्ड बनवाया जाना है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

ayusman parichan

नि:शुल्क बनाया जाएगा आयुष्मान कार्ड

आयुष्मान भारत के जिला समन्वयक नीरज कुमार ने बताया कि कैंप में आयुष्मान भारत योजना के सभी लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड नि:शुल्क बनाने का कार्य किया जाएगा।

जीविका-आशा, एएनएम भी करेंगी

आयुष्मान पखवाड़े के दौरान आयोजित शिविरों में पात्र लाभार्थी परिवार के सदस्यों को वार्ड सदस्य के सहयोग से मोब्लाइज किया जाएगा। व्यक्तिगत पहचान हेतु आधार कार्ड, आधार नंबर तथा परिवारिक सदस्यता सत्यापन के लिए राशन कार्ड अथवा प्रधानमंत्री द्वारा प्रेषित पत्र साथ शिविर में आने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस कार्य में जीविका, आशा, एएनएम के साथ-साथ एमओआईसी और बीसीएम की सहायता ली जाएगी। शिविर के दौरान निर्गत ई-कार्ड का वितरण विशेष अभियान के 15वें दिन एक साथ आरटीपीएस पटल अथवा पंचायत भवन पर संबंधित ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों एवं आशा, एएनएम के सहयोग से किया जाएगा।

प्रति कार्ड पर 5 रूपये इंसेन्टिव

पखवाडा के दौरान लाभार्थियों को नि:शुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा। इसके लिए कार्यपालक सहायको को प्रति कार्ड पर 5 रूपये इंसेन्टिव भी दिया जायेगा। जिस गांव अब तक किसी का कार्ड नहीं बना है उस गांव में विशेष रूप से फोकस किया जायेगा।