छपरा: शहरी व जिला मुख्यालय में प्राथमिकता के आधार पर होगा टीकाकरण

0
  • शहरी क्षेत्र में काफी संख्या में संक्रमित हुए थे लोग
  • छह माह में छह करोड़ व्यस्कों को वैक्सीनेट करने का है लक्ष्य
  • राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने जारी किया निर्देश

छपरा: जिले में कोवड 19 वैश्विक महामारी से सुरक्षा प्रदान करने के लिए 18 वर्ष या इससे अधिक आयुवर्ग के लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है। कोरोना 19 वैश्विक महामारी की दूसरी लहर के दौरान जिले के शहरी क्षेत्रों में सघन आबादी होने के कारण संक्रमण काफी तीव्र होने के कारण आमजन इससे वृहत संख्या में प्रभावित हुये। द्वितीय लहर के प्रभाव को देखते हुए आवश्यक है कि सर्वप्रथम शहरी क्षेत्रों और जिला मुख्यालय को कोविड 19 टीका से पूर्णतः आच्छादित किया जायेगा। जिसके बाद ग्रामीण इलाकों में अनुमण्डल मुख्यालय, प्रखण्ड मुख्यालय के आस-पास के क्षेत्रों को प्राथमिकता के आधार पर आच्छादित करते हुये सभी लक्षित लाभार्थी समूह को आच्छादित किया जायेगा। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि जिन स्थलों से कोरोना 19 संक्रमण की संभावना सर्वाधिक है, उन स्थलों को प्राथमिकता के आधार पर कोरोना टीका से आच्छादित करने के फलस्वरूप इसके संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित किया जा सकेगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

कल्स्टर एप्रोच को अपनाते हुए होगा टीकाकरण

tikakaran

शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कल्स्टर एप्रोच को अपनाते हुए टीकाकरण कराया जाये ताकि हम ससमय कोविड 19 संक्रमण के प्रसार को नियंत्रण के साथ -साथ लक्षित लाभार्थियों को कोविड 19 के टीका से पूर्णतः आच्छादित करने में सफल हों। विदित हो कि 18 वर्ष या इससे अधिक आयुवर्ग के सभी व्यस्कों को कोविड 19 टीका से आच्छादित करने के उद्देश्य से आगामी छः माह में छः करोड़ अर्थात् प्रतिमाह एक करोड़ व्यस्कों को कोविड 19 के टीकाकरण से आच्छादित किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। छः माह में कम से कम 6 करोड़ व्यस्कों को कोविड 19 के टीका से आच्छादित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

चुनाव की तर्ज पर माइक्रो प्लान बनाने का निर्देश

जारी पत्र के माध्यम से चुनाव के दौरान बनाये जाने वाले बूथ के अनुसार कल्स्टर एप्रोच को अपनाते हुए जिलान्तर्गत सभी लक्षित लाभार्थियों को आच्छादित किया जा सके। इससे संबंधित कार्ययोजना तैयार कर टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जाय। प्रखंड स्तर पर तैयार कार्ययोजना को राज्य मुख्यालय को भेजने का निर्देश दिया गया है।

अब सप्ताह में चार दिन होगा टीकाकरण

टीकाकरण के लिए सत्र स्थल पर लाकर टीकाकरण कराया जाय। कोविड 19 का टीकाकरण सप्ताह में चार दिन (सोमवार, मंगलवार, गुरुवार एवं शनिवार) आयोजित किया जायेगा तथा बुधवार एवं शुक्रवार को नियमित टीकाकरण का कार्य किया जायेगा। रविवार को सार्वजनिक अवकाश रहेगा। यदि किसी कारणवश अथवा राजकीय अवकाश होने के कारण टीकाकरण का कार्य नहीं किया जाता है तो उसके अगले कार्य दिवस के दिन टीकाकरण का कार्य संचालित किया जाय।

सत्र स्थल का होगा निर्धारण

टीकाकरण के लिए सत्र का आयोजन लाभार्थी की सुविधा एवं सुगमता को ध्यान में रखते हुए संबंधित क्षेत्र के सामुदायिक भवन, पंचायत भवन, स्कूल अथवा स्वेच्छा से इस कार्य हेतु किसी व्यक्ति या संस्था द्वारा उपलब्ध कराये गये स्थल पर किया जा सकता है। कोविड 19 टीकाकरण के आयोजित होने वाले सत्रों की जानकारी आशा/आंगनबाड़ी एवं अन्य सहयोगी कर्मियों को उपलब्ध कराई जायेगी।

टास्क फोर्स की नियमित बैठक कर बनाएं रणनीति

पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि जिला एवं प्रखंड स्तर पर पूर्व में गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स, प्रखंड स्तरीय टास्क फोर्स, जिला स्तरीय कम्युनिकेशन टास्क फोर्स की नियमित रूप से बैठक का आयोजन किया जाय तथा इस बैठक के माध्यम से जनसमुदाय में कोविड 19 टीकाकरण के प्रति व्याप्त भ्रांतियों की समीक्षा कर उसके तत्क्षण सशक्त प्रमाण के माध्यम से निराकरण करना सुनिश्चित किया जाय। इसके साथ ही इस प्रकार की भ्रांतियों / अफवाहों को दूर करने तथा टीकाकरण से होने वाले लाभ से जनमानस को अवगत कराने को विभिन्न संचार माध्यमों यथा समाचार पत्रों, प्रिन्ट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया आदि के माध्यम से इसे प्रचारित-प्रसारित कराया जाय।