छपरा: गंडक के बढ़ते जलस्तर से सहमे तटीय इलाके में बसे ग्रामीण

0

चौथी बार पलायन की तैयारी

छपरा: नेपाल के जलग्रहण क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश एवं वाल्मीकिनगर बराज से नेपाल द्वारा लगातार भारी मात्रा में पानी छोड़े जाने से गंडक नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। गंडक नदी के बढ़ते जलस्तर के कारण सारण तटबंध के निचले इलाकों में बसे पृथ्वीपुर ,सलेमपुर ,सोनवर्षा ,बसहिया , उभवा ,रामपुररुद्र 161 गांवो के सैकड़ो घरो में पानी प्रवेश करने लगा है वही रामपुररुद्र 161 गांव का सड़क संपर्क भी टूट गया है ।मालूम हो कि सारण तटबंध से रामपुररुद्र 161 गांव को जानेवाली मुख्य सड़क विगत दो माह में तीन बार आयी बाढ़ से पहले ही क्षतिग्रस्त हो चुका था ।ग्रामीण चचरी पुल बनाकर किसी तरफ आवागमन बहाल किये हुए थे लेकिन एक बार फिर आयी बाढ़ ने आवागमन के सारे रास्ते बंद कर दिए है जिससे अब लोगो को नाव ही सहारा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

सारण तटबंध के निचले इलाकों में बसे ग्रामीण जून माह से अबतक तीन बार बाढ़ की विभीषिका झेल चुके हैं ।नदी के जलस्तर में हो रही वृद्धि से इन गांवों के लोग अब चौथी बार विस्थापित होने की तैयारी में जुटे हैं ।इस बीच बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के दिशानिर्देश के अनुसार बीडीओ राकेश रौशन के आदेश पर विभिन्न विद्यालयों में छात्र छात्राओं को संभावित बाढ़ के दौरान बरती जानेवाली सावधानियों से अवगत कराया गया ।शिक्षकों ने छात्रों को बाढ़ के दौरान बाहर नही निकलने ,बिजली के खंभों के नजदीक नही जाने ,पानी को उबाल कर पीने की आदि की सलाह दी ।बीडीओ ने लोगो से किसी तरह की अफवाह पर ध्यान नही देने की अपील करते हुए धैर्य बनाये रखने की अपील की।