गोपालगंज: CM नीतीश ने किया बैकुंठपुर के पकहा-सारण बांध का निरीक्षण

0

गोपालगंज : गंडक नदी पर जमींदारी बांध के टूटने से आयी बाढ़ के कहर से बैकुंठपुर सहित सिवान और छपरा के कई हिस्से काफी दिनों तक जलमग्न हो गए थे और लाखों की आबादी प्रभावित हुई थी यही 210 मीटर बांध के टूटे हुए भाग पर चल रहे मरम्मती कार्य का निरीक्षण बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया।और वाहा पर मौजद सभी आला अधिकारियों से विचार विमर्श करते हुए मुख्यमंत्री ने बांध के टूटे भाग में स्टील पाइप का उपयोग करने का निर्देश दिया।साथ ही जल संसाधन के सचिव को हरहाल में आगामी 15 मई तक कार्य को पूरा कर देने के लिए हिदायत किया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जमींदारी बांध पर ही बैकुंठपुर प्रखंड के पकहा गॉव के समीप आलाधिकारियों से बातचीत करने के बाद वाहन से सतर घाट में गंडक नदी पर बने सेतु का निरीक्षण करने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंच गए ।और सतर घाट पुल के अप्रोच रोड में बाढ़ के पानी से टूटे हुए भाग पर चल रहे मरम्मत कार्य को भी मुख्यमंत्री ने गौर से देखा और अधिकारियों को नीर्देशित किया।

इस अवसर पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि जिस वक्त बाढ़ आई थी उस वक्त भी हमने हवाई सर्वे कर पीड़ित लोगों को यथासंभव मदद करने का प्रयास किया था और उसी समय हमने निर्णय ले लिया था कि आने वाले वक्त में फिर इस तरह की स्थिति का सामना लोगों को नहीं करना पड़े इसके लिए जो भी जरूरत पड़ेगी वह सरकार द्वारा कदम उठाया जाएगा और और अंततः यह बांध का रिपेयरिंग कार्य चलाया जा रहा है इसमें हमने स्टील का पाइप डालकर निर्माण करने का निर्देश दिया है इसके वजह से 12 मीटर अंदर तक बांध को प्रोटेक्शन मिलता है और 70 घाट पुल का भी हमने निरीक्षण कर लिया और केसरिया तक एप्रोच रोड का जायजा भी हमने लीया है इसमें जहां-जहां भी आने वाले वक्त में नुकसान होने की संभावना दिख रही है.

cm nitish kumar

वहां पहले से ही अधिकारियों को हमने निर्देश दे दिया कि उसकी तैयारी कर उसको दुरुस्त कर दिया जाए ताकि फिर से आने वाले वक्त में बाढ़ की विभीषिका से लोगों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। और यह कार्य हर हाल में 15 मई के पहले पूरा करने का निर्देश सभी संबंधित पदाधिकारियों को दे दिया गया है। इस मौके पर सारण के डीआईजी मनु महाराज तथा गोपालगंज के जिलाधिकारी डॉ नवल किशोर चौधरी पुलिस कप्तान आनंद कुमार तथा अन्य वरीय पदाधिकारी और बिहार सरकार के कई वरीय पदाधिकारी मौजूद रहे। साथ ही गोपालगंज के सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन तथा जदयू और भाजपा के कई बड़े नेता उपस्थित रहे।

 

पिछले साल बाढ़ से हुई थी भारी तबाही

बता दें कि पिछले साल ज्यादा बारिश होने और नेपाल से ज्यादा पानी छोड़े जाने से गोपालगंज के पकहा में सारण बांध टूट गया था। जिससे इस इलाके में बाढ़ आई थी। इस बाढ़ से करीब गोपालगंज की दो लाख की आबादी प्रभावित हुई थी। दोबारा बाढ़ न आये इसको लेकर विभाग कटाव निरोधी कार्य करा रहा है। इस दौरान सीएम नीतीश ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कटाव निरोधी कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। उन्होंने कटाव निरोधी कार्य को लेकर अधिकारियों के साथ समीक्षा की और गुणवत्ता के साथ काम तेज करने का निर्देश दिया।