कम्पाउंडर फेराज हत्याकांड : जमीनी विवाद में हुई हत्या, दो गिरफ्तार, पूछताछ जारी

0
घटना की जांच करते एसपी नवीन चन्द्र झा
घटना की जांच करते एसपी नवीन चन्द्र झा

मृतक के पिता के बयान पर तीन नामजद

चिकित्सकों ने लगाया रात्रि गश्ती न करने का आरोप

डीएम के आदेश पर रात्रि में ही हुई पोस्मार्टम

परवेज़ अख्तर/सिवान:- नगर थाना क्षेत्र के एमएम कॉलोनी से कुछ ही दूरी पर बुधवार की रात करीब 11 बजे बाइक सवार दो अपराधियों ने लूटपाट के क्रम में एक नर्सिंग होम के कर्मी को गोलीमार गंभीर रूप से घायल कर दिया। जिसने इलाज के क्रम में सदर अस्पताल में दम तोड़ दिया। घटना के बाद से अपराधी फरार हो गए। मृत कर्मी को अपराधियों ने पैर व पेट में दो गोली मारी थी। मृतक की शिनाख्त हुसैनगंज थाना क्षेत्र के कुतुब छपरा गांव का फेराज के रूप में हुई। घटना के बाद सदर अस्पताल में काफी संख्या में शहर के चिकित्सक व अन्य लोग जानकारी लेने पहुंचे थे। मृतक अपने क्लीनिक से एक मरीज के ऑपरेशन के बाद भोजन करने के लिए होटल में गया था। इधर घटना के बाद पुलिस ने मृतक के शव का डीएम के आदेश पर रात में ही पोस्टमार्टम करा उसे परिजनों को सौंप दिया। सूचना पाकर अस्पताल पहुंचे परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। घटनास्थल से पुलिस ने तीन खोखा, एक जिंदा कारतूस और एक कारतूस के अगले हिस्से को बरामद किया है। मामले में दो अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जिनसे पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है। बताया जाता है कि मृतक फेराज शहर के एमएम कॉलोनी से कुछ ही दूरी पर ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉ. एमडी शादाब के क्लीनिक में कम्पाउंडर का काम करता था। बुधवार की रात एक मरीज के ऑपरेशन के बाद वह रात में खाना खाने के लिए पास के एक होटल में गया। वहां से लौटने के क्रम में काले रंग की प्लसर बाइक पर सवार दो अपराधियों ने उससे लूटपाट की कोशिश की। इसी बीच अपराधियों ने तीन राउंड फायरिंग  की जिसमें एक गोली फेराज के पैर को भेदती हुई निकल गई और दूसरी गोली पेट में लगी। इसके बाद अपराधी वहां से फरार हो गए। गोली की आवाज सुनकर जब आसपास के लोग वहां पहुंचे तो फेराज को सड़क किनारे खून से लथपथ देख इलाज के लिए सदर अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सक मुंतजिर आलम, डॉ. शहनवाज, डॉ. राजीव रंजन ने पेट में फंसी गोली को निकालने का प्रयास किया लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उसकी मौत इलाज के क्रम में हो गई। इधर घटना के बाद से चिकित्सकों सहित लोगों में काफी आक्रोश था। डॉ. एमडी शादाब ने बताया कि रात में इस तरह से लोगों की हत्या करना पुलिस की नाकामी का नतीजा है। रात में गश्त नहीं होने से अपराधियों का मनोबल बढ़ रहा है। उन्होंने एसपी से अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की। इस दौरान डॉ. अमजद खान, निशांत सागर, डॉ. रामएकबाल  सहित काफी संख्या में चिकित्सक मौजूद थे। उधर मृतक  फेराज हुसैन के पिता फारूक मियां के बयान पर नगर थाना कांड संख्या 498/18 दर्ज कराई गई है। दर्ज प्राथमिकी में हत्या का कारण जमीनी विवाद बताया गया है। दर्ज प्राथमिकी में हुसैनगंज थाना के कुतुब छपरा गांव निवासी जफर कमाल, यनामी तथा नामी को आरोपित किया गया है। नगर थाना की पुलिस ने त्वरित कारवाई करते हुए। हत्या कांड के दो नामजद आरोपित यनामी और नामी को गिरफ्तार कर पूछ-ताछ कर रही है तथा एक अन्य आरोपित जफर कमाल की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal