बडे बकायेदारों के विरुद्ध जारी रखें अभियानः अधीक्षण अभियंता

0
  • एक वर्ष से बिल बकाया रखने वाले सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं को करे लक्षित
  • दो माह से जमा न करने वालों पर भी रखे नज़र
  • एक साल से जमा नही करने वाले 50 हजार 861 उपभोक्ताओं पर है 25 करोड़ से अधिक का बकाया

गोपालगंज: बिजली के बडे बकायेदारों के खिलाफ टीम बना कर अभियान चलाने की जरूरत है. अगर समय पर कार्रवाई की गई तो आसानी से कंपनी द्वारा दिया गया राजस्व लक्ष्य को पूरा किया जा सकता है. उक्त बातें सोमवार को अरार मोड स्थित बिजली कंपनी के सभागार में कंपनी के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए छपरा सर्किल के विधुत अधीक्षण अभियंता विवेकानंद ने कही. उन्होंने कहा कि दो माह से अधिक का बकाया बिल रखने वाले सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं को टारगेट कर हर हाल में बकाया राशि को जमा कराना होगा. नोटिस के बाद भी जमा न करने वालों पर काट जाए कनेक्शन। उन्होंने कहा कि अब तो हर बिजली बिल पर ही लाइन काटने संबंधित जानकारी उपभोक्ताओं को दे दी जाती है. इसके अलावे उपभोक्ता के मोबाइल मैसेज के माध्यम से भी राशि जमा करने की हिदायत दी जाती है. ऐसे स्थिति में भी अगर उपभोक्ता बिजली बिल की राशि जमा नहीं करता है तो उसका कनेक्शन अभियान चलाकर काटने की जरूरत है.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

ख़ासकर शहर व देहात के बड़े बकायेदारों, ब्लॉक मुख्यालय और बाज़ार क्षेत्र के उपभोक्ताओं को टारगेट करते हुए वसूली करने पर फोकस करने की बात कही। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि अब शत प्रतिशत उपभोक्ताओं के घरों में बिजली मीटर लगना है. ऐसे में अधिकारियों को मीटरिंग कार्य पर भी नजर रखनी होगी. उन्होंने सभी कनीय अभियंता, सहायक अभियंता व अन्य अधिकारियों को सभी फ्रेंचाइजियों और उपभोक्ताओं के द्वारा एक साल से बिल भुगतान नही करने वालों की सूची पर प्रतिदिन समीक्षा करने की भी बात कही. मौके पर कार्यपालक अभियंता आपूर्ति अजय कुमार, मीरगंज प्रमंडल के विद्युत कार्यपालक अभियंता आपूर्ति विकास कुमार, प्रमंडल के आईटी मैनेजर रामप्रवेश रजक , सहायक अभियंता मीरगंज देवेंद्र राम, कुचायकोट के दिलीप कुमार, बरौली के गुंजन कुमार, गोपालगंज के अभिषेक प्रेम, सभी 18 सेक्शन के कनीय अभियंता आपूर्ति, सहायक आईटी मैनेजर, कनीय अभियंता राजस्व आदि उपस्थित थे।