कोरोना कहर: जीरादेई के पूर्व विधायक राघव प्रसाद के निधन पर परिजनों व समाज के प्रबुद्ध लोगों में शोक

0

परवेज अख्तर/सिवान: जीरादेई विधान सभा के पूर्व विधायक राघव प्रसाद सिंह का 92 साल की उम्र में कोरोना से मौत हो गया. वे 15 दिनो पूर्व कोरोना संक्रमण होने पर एलएस कॉलेज मुजफ्फरपुर स्थित साइंस कॉलेज में होम आइसोलेट थे. तभी अचानक सांस लेने में परेशानी होने पर पटना ले जाने के दौरान रास्ते में निधन हो गया. उनका पैतृक गांव पचरुखी के पपौर पंचायत के इंटवा गांव है. दिवंगत पूर्व विधायक का कोई संतान है. तीन भतीजा और एक छोटे भाई की पत्नी की मृत्यु बहुत पहले हो चुकी है. वे राजनीति के मजे हुये खिलाड़ी थे. वे लोक दल पार्टी से 1980-85 में जीरादेई के विधायक रहे. राजनीतिक आंखड़े में कैप्टन डॉ त्रिभुवन नारायण सिंह से चुनाव हार गये थे. कर्पूरी ठाकुर के कार्यकाल में लोक दल पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, लालु प्रसाद यादव, रामविलास पासवान सहित अन्य नेता के राजनीतिक गुरु कहे जाते थे. वे पटना में एक किराये के मकान में रहते थे. वे स्वयं अपने लिये भोजन बनाते थे. तत्काल वे पटना उच्च न्यायालय में वकालत करते थे. वे सीवान स्थित डीएवी कॉलेज में गणित के शिक्षक रह चुके थे. निधन की खबर से ग्रामीणों में शोक की लहर दौड़ गयी. मुखिया पुष्पा पांडेय, जय प्रकाश सिंह, भोला सिंह, अंबाला सिंह, रमेश सिंह, राजेश्वर सिंह, जदयू के युवा अध्यक्ष सह सांसद प्रतिनिधि महाबीर प्रसाद आदि ने बताया कि हमने एक ईमानदार और प्रखर गरीबों के मसीहा को खो दिया. उनका दाह संस्कार गांव में किया गया. दाह संस्कार में स्थानीय ग्रामीणों को छोड़ अन्य कोई भी प्रशासनिक अधिकारी शामिल नहीं हुये.