कोरोना जांच में लाएं तेजी, निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप करें टेस्टिंग: सिविल सर्जन

0
  • सिविल सर्जन ने सभी पदाधिकारियों को दिया निर्देश
  • संसोधित निर्धारित लक्षय के अनुरूप जांच करने का दिया आदेश
  • जिलें कोरोना के मामलों में आ रही है कमी
  • शारीरिक दूरी और मास्क उपयोग हीं है कोरोना से बचाव उपाय
  • कोविड-19 से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल का पालन जरूरी

सिवान: जिले में कोरोना संक्रमण के मामले धीरे-धीरे कम हो रहे हैं। इससे ठीक होने वाले व्यक्तियों की संख्या में भी लगातार वृद्धि हो रही है। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किये गये प्रयासों का परिणाम देखने को मिल रहा है। सिविल सर्जन डॉ यदुवंश शर्मा ने पत्र जारी कर सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों व स्वास्थ्य प्रबंधकों को निर्देश दिया है कि कोरोना की जांच में तेजी लाएं। जिलास्तर से निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप हीं कोरोना जांच कराना सुनिश्चित करें। सिविल सर्जन ने जिले के सभी प्रखंडों मे प्रखंडवार लक्षय निर्धारित किया है। पूरे सिवान जिले में 5100 से अधिक का लक्ष्य रखा गया है। जिसके अनुरूप कार्य किया जा रहा है। व्यापक स्तर पर टेस्टिंग व सैंपल कलेक्शन का कार्य चल रहा है। सिविल सर्जन डॉ शर्मा ने बताया कि जिले में तीन तरीके से कोरोना की जांच की जा रही है। पहला रैपिड एंटीजन टेस्ट कीट, दूसरा ट्रूनेट जांच मशीन व तीसरा आरटी-पीसीआर के माध्यम से जांच किया जा रहा है। आरटीपीसीआर के लिए सैंपल लेकर पटना भेजा जाता है। उसका रिपोर्ट पटना से आता है। जबकि एंटीजन व ट्रूनेट मशीन का जांच रिपोर्ट प्रखंड स्तर पर हीं मिल जाता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
adssssssss
a2

गांव स्तर पर किया जा रहा कोरोना जांच

सीएस डॉ. शर्मा ने कहा कि अब जिले के गांव स्तर पर भी स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कैंप लगाकर कोरोना का जांच की जा रही है। प्रशिक्षित चिकित्साकर्मियों के द्वारा रैपिड एंटिजन टेस्ट कीट के माध्यम से कोरोना का जांच की जा रही है। जिसका रिपोर्ट तुरंत बता दिया जाता है। क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने एवं कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर गांव के प्रतिनिधियों के द्वारा जागरूक करने पर गांव में बेहतर माहौल है। कोरोना वायरस की रोकथाम व बचाव के दिशा में सभी बेहतर कार्य कर रहे हैं। इसे और व्यापक करने के लिए अधिक से अधिक लोगों को कोविड-19 सैंपल कलेक्शन करने की जरूरत है। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निर्धारित लक्ष्य पूरा करने के लिए कैंप लगाकर जांच करने को कहा।

सतर्कता में नहीं रखें कोई कमी

संक्रमण से रिकवरी रेट के आंकड़ें उत्साहजनक जरूर हैं, लेकिन सर्तकता में जरा सी चूक स्थिति बिगड़ सकती है। इसलिए कोरोना वायरस से बचाव के लिए सुरक्षात्मक उपाय को अभी अपनी आदतों में शामिल रखें। जैसे घर से बाहर निकलने पर मास्क का इस्तेमाल, घर वापस आने पर हाथ को साबुन से 40 सेकेंड धोना, शारीरिक दूरी का पालन आदि नियमों व एहतियातों को अपना कर ही कोरोना वायरस पर विजय पाया जा सकता है।

कोविड-19 के इन नियमों का पालन करना जरूरी है

  • अस्पताल जाने के लिए बिना मास्क के घर से बाहर न निकले
  • अस्पताल में टीका दिलाते समय शारीरिक दूरी का पालन करें
  • टीका दिलाते समय बच्चों को अपने गोद में रखें
  • छोटे बच्चों को नियमित रूप से समय-समय पर हाथ धोने के लिए प्रेरित करें
  • घर में बाहर से आने वाले लोगों से बच्चों को दूर रखें

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here