सदर अस्पताल में दीक्षा प्लेटफार्म के माध्यम से कोरोना वारियर्स को मिला प्रशिक्षण

0
parsikshand
  • केयर इंडिया के तकनीकी पदाधिकारियों ने दिया ट्रेनिंग
  • खुद को संक्रमण मुक्त रखने के लिए दी गई जानकारी

छपरा:- वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर सदर अस्पताल के क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र में सुरक्षा गार्ड, ममता व सफाई कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण का मकसद कोरोना के संक्रमण की रोकथाम और उपचार में व्यक्तिगत क्षमताओं का विकास करना था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लॉन्च दीक्षा ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से यह प्रशिक्षण केयर इंडिया के तकनीकी पदाधिकारियों के द्वारा दिया गया। केयर इंडिया के तकनीकी पदाधिकारी गुंजन चेत्री ने बताया इस प्रशिक्षण का मकसद कोरोना वायरस से बचने के लिए व्यक्तिगत क्षमता का विकास व फैलने से रोकने के लिए दिया गया है। प्रशिक्षण के दौरान ममता, सुरक्षा गार्ड व सफाई कर्मियों को ड्यूटी के समय बरते जाने वाले सावधानियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। ताकि किसी तरह के संक्रमण का प्रसार ना हो सके और यह कर्मचारी अपनी सुरक्षा खुद कर सके।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

parsikshadh

सावधानी से ही बचाव संभव

केयर इंडिया के मेंटर आरती पहल ने बताया सावधानी बरतने से ही कोरोना से बचाव संभव है। उन्होंने कोरोना वायरस की जानकारी देते हुए कहा इसके लक्षणों में पीड़ित मरीज को जुकाम के साथ बुखार, गले में खराश, नाक बहना या सांस लेने में तकलीफ होती है। इससे बचने के लिए सभी को बार बार साबुन से हाथ धोने, खांसते या छींकते वक्त मुंह पर रुमाल रखने व मास्क का प्रयोग करने की जानकारी दी गयी । यह कोई बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन लापरवाही बरतने पर जानलेवा साबित हो सकती हैं.

वीडियो के माध्यम से दी गई जानकारी

केयर इंडिया के बीएम अमितेश कुमार ने बताया प्रशिक्षण के दौरान दीक्षा एप पर मौजूद वीडियो के माध्यम से इन सभी कर्मियों को जानकारी दी गई है। जिसमें मास्क पहनने, नियमित हाथों की धुलाई, ग्लब्स पहने आदि की जानकारी दी गई। साथ नहीं ड्यूटी के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा गया।

तीन शिफ्ट में दिया गया प्रशिक्षण

इस प्रशिक्षण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए 30 लोगों को तीन शिफ्ट में प्रशिक्षण दिया गया है। ताकि सोशल डिस्टेंसिंग बना रहे और लोग एक दूसरे के संपर्क में आने से बच सकें।