नामजदों की तलाश में भटक रही धनौती पुलिस, नहीं मिल रहा सुराग

0
police

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के धनौती ओपी के खगौरा गांव में तीन दिन पूर्व शराब व पशु तस्करों की गिरफ्तारी को गई पुलिस टीम पर किए गए हमले के मामले में पुलिस ने नामजद प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है, लेकिन मिली जानकारी के अनुसार अभी तक इस मामले में एक भी गिरफ्तारी नहीं सकी है। पुलिस नामजदों की गिरफ्तारी के लिए खगौरा सहित आसपास के कई मोहल्लों और गांव में छापेमारी कर रही है लेकिन उसे सिर्फ हाथ मलना पड़ रहा है। ऐसे में नामजद कहां छिपे बैठे हैं इसके बारे में कोई भी कुछ बताने को तैयार नहीं है। वहीं पुलिस भी नामजदों की धरपकड़ जल्द करने के लिए अज्ञातों की गिरफ्तारी भी करने के फिराक में लगी है ताकि नामजद पुलिस दबाव में सरेंडर करें। बात दें कि इस मामले में पुलिस ने 20 लोगों को नामजद किया है। जिनमें गुड्डू, राजा, मोहर्रम अली, सोनू, अरशद, गर्भू, रॉकी, मेढ़ा, छोटे अहमद, अजहर अली, इरफान अहमद, शेरू, राजा, बिट्टू, बादशाह, वशर अली, आरजू, प्रिंस, मिस्टर, इरफाद अली शामिल है। जबकि 30 अज्ञात शामिल हैं।

पत्थरबाजों की तादाद देख बैकफुट पर लौट गई थी छापेमारी टीम

धनौती ओपी क्षेत्र के खगौरा गांव में शुक्रवार की अल सुबह पुलिस के वाहन पर पथराव व पुलिस कर्मियों के साथ हुई मारपीट की घटना के बाद पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर अपनी अनुसंधान तेज कर दी है तथा दर्ज कांड के नामजद आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है। प्राथमिकी के अनुसार पुलिस का कहना है कि शुक्रवार की अल सुबह मैरवा के गुप्तचर द्वारा सूचना मिली कि उत्तर प्रदेश के रास्ते तीन बोलेरोगाड़ी पर शराब की एक बड़ी खेप खगौरा गांव में आ रही है। इसके बाद ओपी प्रभारी पुष्पेंद्र के निर्देश पर सहायक अवर निरीक्षक वीर बहादुर सिंह सशस्त्र बलों के साथ निकल पड़े, ज्योंही उत्तर प्रदेश के रास्ते आ रही तीन बोलेरो के चालकों ने पुलिस जीप को देखा तो चालक गाड़ी लेकर खगौरा गांव में प्रवेश कर गए। पुलिस जीप जब कार्रवाई के लिए खगौरा गांव में प्रवेश की तो ग्रामीण आगबबूला हो गए तथा पुलिस टीम पर ईंट-पत्थर से हमला कर दिए। इस हमला में सहायक अवर निरीक्षक वीरबहादुर सिंह तथा एक अन्य पुलिस कर्मी प्रदीप कुमार आंशिक रूप से घायल हो गए तथा ग्रामीणों का आक्रोश देख पुलिस बैकफुट पर आ गई तथा इसकी सूचना घायल पुलिस कर्मियों ने धनौती ओपी प्रभारी मुकेश कुमार पुष्पेंद्र को दी। बाद में थाना प्रभारी ने इसकी सूचना एसपी नवीनचंद्र झा को दी। वहीं एसपी के निर्देश पर उत्पाद विभाग की टीम, मुफ्फसिल थाना एवं महादेवा ओपी की पुलिस टीम घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस की बढ़ती सक्रियता को देख बैकफुट पर आई पुलिस पुन: गांव में प्रवेश कर गई। पुलिस कर्मियों की बढ़ती तादाद को देख शरारती तत्व गांव छोड़ फरार हो गए। पुलिस ने अपनी कार्रवाई में तीन बोलेरो एवं एक बाइक को जब्त कर लिया।

शराब व पशु तस्करों के इशारे पर किया गया था हमला

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस के प्रथम दृष्टया के अनुसंधान में यह बात सामने आई है कि पुलिस पर जिनके इशारे पर हमला किया गया है वे रिकार्डेड पशु तस्कर हैं। जो पूर्व में भी कई बार जेल जा चुके हैं।

कहते हैं ओपी प्रभारी

धनौती ओपी के सहायक अवर निरीक्षक वीर बहादुर सिंह के आवेदन के आधार पर मुफ्फसिल/धनौती ओपी प्राथमिकी कांड सं. 296 /18 दर्ज की गई है जिसमें 20 नामजद तथा 30 अज्ञात को आरोपित किया गया है। पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
मुकेश कुमार पुष्पेंद्र
ओपी प्रभारी, धनौती