दारौंदा: पंचायत समिति की बैठक में पदाधिकारियों की अनुपस्थिति पर हंगामा

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के दारौंदा प्रखंड कार्यालय सभागार में सोमवार को प्रखंड प्रमुख विनय कुमार सिंह की अध्यक्षता में पंचायत समिति सदस्यों की बैठक हुई। बैठक में प्रमुख ने सदन में उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों का स्वागत एवं अभिनंदन किया लेकिन कई विभाग के पदाधिकारियों की अनुपस्थिति को देख सदन में मौजूद जनप्रतिनिधि नाराज हो गए। उन्होंने पदाधिकारियों पर अनदेखी का आरोप लगाया। इसके बाद बैठक में वित्तीय वित्तीय वर्ष 2022-23 में किस-किस योजनाओं को लेना है इस पर चर्चा हुई। पंचायत समिति सदस्य गुड़िया सिंह ने कहा कि किस कारण से सिर्फ 13 पंचायत समिति में ही कार्य ही कराया जा रहा है, इसको पूरी तरह स्पष्ट करें नहीं तो सदन नहीं चलने दिया जाएगा। इसका जवाब देते हुए बीपीआरओ जनार्दन प्रसाद सिंह ने कहा कि सभी अपने लेटर पैड पर योजनाओं को लिख कर दें उस योजनाओं को जरूर पारित किया जाएगा।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

बीडीसी हरेश यादव ने प्रश्न किया कि ग्राम सभा या आम सभा में बीडीसी को नहीं बुलाया जाता है। इसका जवाब देते हुए प्रमुख ने बीडीसी एवं सरपंच को आमसभा या ग्राम सभा में बुलाने की बात कही। मनरेगा पीओ भास्कर कुमार सिंह ने कहा कि डोंगल की समस्या थी इसको जल्द की निपटा दिया जाएगा। स्वास्थ्य के विषय में पांडेयपुर पंचायत मुखिया निरंजन सिंह ने अपने पंचायत में उप स्वास्थ्य केंद्र एवं एएनएम बहाल करने की मांग रखी, लेकिन सदन में चिकित्सा विभाग के कोई कर्मी मौजूद नहीं थे। वहीं समेकित बाल विकास परियोजना विभाग पर भी उन्होंने सवाल किया कि सबसे अधिक इस विभाग में गबन है। बच्चों के पौष्टिक आहार के पैसा का गबन कर लिया जा रहा है इस विभाग से सीडीपीओ उपस्थित नहीं थीं।

रसूलपुर पंचायत मुखिया मंसूर आलम ने स्वच्छता अभियान के बारे में सवाल उठाया। इस पर बीडीओ दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान फेज 2 के तहत कचरा प्रबंधन एवं शौचालय बनाने एवं पैसे भुगतान का कार्य हो रहा है। मुखिया निरंजन सिंह ने आपूर्ति विभाग पर प्रश्न उठाते हुए कहा कि अभी भी जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों द्वारा पांच किलो राशन की जगह चार किलो राशन दिया जा रहा है। प्रखंड कार्यालय में आपूर्ति विभाग के अधिकारी या कर्मी नहीं बैठते हैं ताकि शिकायत की जा सके। बैठक में शिक्षा विभाग में सबसे अधिक शिकायत मिलने की बात कही गई। बीडीओ ने कहा कि कई विद्यालयों की जांच की गई थी। बीईओ शिवजी महतो से कहा कि विद्यालय सघन जांच कर कार्रवाई की जा रही है। इस दौरान पंचायत समिति सदस्य, मुखिया, पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।