दरौंदा के मछौता गांव में दूसरे दिन भी पड़ा रहा अधेड़ का शव

0
Dead body in a mortuary

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के दरौंदा थाना क्षेत्र के मछौता गांव में बुधवार की संदिग्ध परिस्थिति में हुई अधेड़ की मौत के दूसरे दिन उसका शव दरवाजे पर पड़ा हुआ है। ग्रामीण मृतक की पत्नी के घर आने का इंतजार कर रहे हैं। बुधवार की देर रात तक पुलिस अधिकारी मछौता गांव में जमे रहे। ग्रामीणों का कहना है कि परमात्मा यादव (50 वर्ष) की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। जहरीली शराब से मौत की सूचना मिलते ही एसडीओ महाराजगंज संजय कुमार व एसडीपीओ पोलस्त कुमार दलबल के साथ गांव पहुंच गए। पुलिस अधिकारी घटना की जानकारी लेने में लगे रहे। इधर ग्रामीण शव का पोस्टमार्टम कराने व शराब कारोबारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग कर रहे थे। जबकि प्रशासनिक पदाधिकारी इसके लिए तैयार नहीं थे। पदाधिकारी लगातार परिजन व ग्रामीणों से बात कर रहे थे। लेकिन गुरुवार की देर शाम तक शव मृतक के दरवाजे पर पड़ा हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि परमात्मा यादव का पूरा परिवार चंडीगढ़ में रहता है। परमात्मा यादव हाल ही में गांव आए थे। घटना की जानकारी मिलते ही उनकी पत्नी व पुत्र मछौता के लिए चल दिए। ग्रामीण बताते हैं कि उनके आने के बाद ही शव का अंतिम संस्कार होगा। लेकिन पोस्टमार्टम कराने को लेकर अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पाया है। आगे क्या करना है इसका निर्णय उनकी पत्नी व पुत्र ही करेंगे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

शराब पीने से हो गई थी तबीयत खराब

मृतक की मां ने बताया कि शराब पीने से उनकी तबीयत खराब हो गई थी। उसने चक्कर आने की भी शिकायत की थी। उसके आंख से कुछ भी दिखाई दे रहा था। वहीं गांव के ही एक और व्यक्ति पिन्टू यादव की तबीयत खराब होने की बात बताई जा रही है। जिसका इलाज गोरखपुर में चलने की बात ग्रामीण बता रहे हैं। इससे पहले पकवलिया पंचायत के ही ढेबर गांव में 9 मार्च को जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत हुई थी। लेकिन प्रशासन ने तीनों शवों का दाह-संस्कार करा दिया था।