महाराजगंज में युवक की हत्या कर शव नहर में फेंका

0
Dead Body
  • जख्मी युवक किसी तरह अपनी जान बचाकर बदमाशों के चंगुल से भाग निकला
  • बीच-बचाव करने गए युवक को भी चाकू मारा
  • ग्रामीणों ने महाराजगंज व दरौंदा थाने को दी सूचना
  • 02 बाइक व दो मोबाइल घटनास्थल से बरामद
  • 01 किलोमीटर की दूरी तय कर धनौता पहुंचा

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के महाराजगंज थाना क्षेत्र के जगदीशपुर पुल के समीप अपराधियों ने बुधवार की देर रात एक युवक की चाकू व लाठी-डंडे से मार हत्या कर दी और शव को नहर में फेंक दिया। वहीं दूसरे युवक को भी चाकू मारकर जख्मी कर दिया। जख्मी युवक किसी तरह अपनी जान बचाकर बदमाशों के चंगुल से भाग निकला। स्थानीय ग्रामीणों द्वारा जख्मी युवक को सदर अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक महाराजगंज थाना क्षेत्र के जगदीशपुर गांव निवासी सत्येंद्र सिंह का 19 वर्षीय पुत्र सुधांशु कुमार सिंह था। वहीं जख्मी युवक जीबीनगर थाना क्षेत्र के नवतन गांव निवासी अमरनाथ ओझा का पुत्र राजीव कुमार ओझा है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि जगदीशपुर निवासी सत्येन्द्र सिंह का पुत्र सुधांशु कुमार गांव के नहर पर बैठा था कि इसी बीच करीब आधा दर्जन बदमाश उस पर हमला कर मारपीट कर रहे थे। उसी समय जीबीनगर थाने के नवतन गांव के अमरनाथ ओझा का पुत्र राजीव कुमार ओझा बाइक से उसी रास्ते से धनौता गांव अपने रिश्तेदार के यहां जा रहा था। उस समय बदमाश सुधांशु को मार रहे थे। उसने ऐसा करने से रोका, तभी अपराधियों ने उसे चाकू मार दिया। वह जख्मी हालत में भागते हुए लगभग एक किलोमीटर की दूरी तय कर धनौता पहुंचा और एक व्यक्ति के दरवाजे के सामने गिर गया। लोगों को उसने घटना की जानकारी दी। ग्रामीणों ने तुरंत इसकी सूचना महाराजगंज व दरौंदा थाने को दी। इसके बाद थानाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह ने घटनास्थल पर पहुंच दो बाइक, तीन चार लाठी-डंडा और दो मोबाइल बरामद किया। काफी खोजबीन के बाद पुलिस की नजर पानी में उपलाते शव पर पड़ी। जब पुलिस ने शव को नहर से निकाला तो उसकी शिनाख्त सुधांशु कुमार के रूप में हुई। इस संबंध में थानाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह ने कहा कि पुलिस घटना की जांच कर रही है। घटना में शामिल अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

मृतक चार भाइयों में था सबसे छोटा

मृतक सुधांशु चार भाई व एक बहन के बीच सबसे छोटा था। उसके पिता सरकारी नौकरी में हैं। एक भाई विदेश व दो भाई प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करते हैं। मृतक भी सूरत में रहकर प्राइवेट नौकरी करता था जो कुछ दिन पहले ही गांव आया था।

मां के आवेदन पर एफआईआर

मृतक की मां संगीता देवी के आवेदन पर चार को नामजद और तीन अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। मां ने आवेदन में बताया कि अशोक और बजरंग पांच बजे के आसपास नेवता में चलने के लिए घर से बुलाकर ले गए और ग्यारह बजे रात को पुलिस ने सूचना दी कि उसके बेटे की हत्या हो गई है।