आग से झुलसी नव विवाहिता की इलाज के दौरान मौत

0
27
jalaya

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के जी. बी. नगर थाना क्षेत्र के अलीनगर चैनपुर गांव में 25 मई को एक नवविवाहिता प्रियंका देवी को उसके ससुराल के लोगों ने दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर मौत के घाट उतार देने के नीयत से मिट्टी का तेल छिड़क कर आग के हवाले कर दिया था, घायलावस्था में उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां से चिकित्सकों ने उसे बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया था। इस क्रम में गुरुवार को घायल की मौत पटना में हो गई। बता दें कि छपरा जिला के गड़खा थाना क्षेत्र के मइकी कोटवा गांव निवासी मुन्ना साह की पुत्री प्रियंका कुमारी की शादी सिवान जिले के जीबी नगर थाना क्षेत्र के अली नगर चैनपुर गांव निवासी पलटन साह के साथ हिंदू रीति रिवाज के अनुसार दहेज स्वरूप समान एवं कपड़ा देकर मई 2017 में धूमधाम से हुई थी। तभी से दहेज लोभियों द्वारा दहेज की मांग हो रही थी, जिसको लेकर घायल प्रियंका के पिता मुन्ना साह ने कई बार बुद्धिजीवी वर्गों के साथ बैठक कर पंचायती की। फिर भी दहेज दरिंदे नहीं माने। मृतका के पिता मुन्ना साह ने बताया की 2 मई को जी. बी. नगर थाना पहुंचकर ओडी प्रभारी सह थाना में पदस्थापित अवर निरीक्षक शशिकांत तिवारी को अपनी पुत्री की जान दहेज दरिंदों से बचाने की गुहार लगाते हुए आवेदन दिया था। लेकिन दहेज दरिंदो के ऊपर कोई समुचित कार्रवाई पुलिस ने नहीं की जिससे मेरी पुत्री को दहेज लोभियों ने केरोसिन डाल कर मौत के घाट उतार दिया गया। अंतत नव विवाहिता प्रियंका देवी जिंदगी की जंग एक सप्ताह लड़ने के बाद हार गई जिसकी मौत इलाज के दौरान पटना में हो गई। जीबी नगर थाना में पद स्थापित अवर निरीक्षक शशिकांत तिवारी ने बताया कि मुझे कोई आवेदन नहीं मिला है। जबकि मृतका के पिता का कहना है कि आवेदन देने के बाद मुझे कार्रवाई का आश्वासन तो मिला, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई।

Loading...

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.