विधानसभा का चुनाव लड़ने वाले शिक्षक मौलाना नुरुद्दीन अंसारी को बर्खास्त करने की मांग

0
barkhast karne ki mang

2017 में छोटा भाई प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी पद से हो चुके हैं सेवानिवृत्त

जन्म तिथि हेराफेरी का लगाया आरोप

परवेज़ अख्तर/सिवान:- जिले के भगवानपुर प्रखंड के रामपुर कोठी निवासी राज किशोर सिंह ने जिलाधिकारी को आवेदन देकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अनुपालन करते हुए उर्दू शिक्षक मौलाना नूरुद्दीन अंसारी को पद पर कार्यरत  की जांच कराकर बर्खाश्त करने की मांग की है। उक्त शिक्षक यदु साह गोपाल जी प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय भगवानपुर हाट में पदस्थापित हैं। दिए गए आवेदन में यह उल्लेख किया गया है कि कार्यरत शिक्षक बीते 2005 में 27 विधानसभा बसंतपुर से लोजपा के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। उन्होंने स्पष्ट रूप से दावा किया है कि उर्दू शिक्षक नुरुद्दीन अंसारी ने 10वीं की परीक्षा दोबारा उत्तीर्ण करके जन्मतिथि कम करके अभी तक सरकारी सेवा में बने हुए हैं जबकि इनके सगे छोटे भाई कमरुद्दीन अंसारी जो सारण जिले के बनियापुर से प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के पद से 2017 के शुरुआत में ही सेवानिवृत्त हो चुके हैं। डीएम को दिए आवेदन में आरटीआइ से मांगी गई सभी रिपोर्ट भी अपने आवेदन में संलग्न किया है जिसमें कई चौंकाने वाले तथ्यों का भी उजागर हुआ है।