बसंतपुर पुलिस की लगातार दबिश से भूमिगत हुआ जनता बाजार का विकास

0
  • पुलिस को संचालक अरविंद हत्याकांड मामले में है तलाश
  • 2 आरोपी गिरफ्तार कर भेजे जा चुके हैं जेल

परवेज अख्तर/सिवान: बसंतपुर मुख्यालय में ग्राहक सेवा केन्द्र संचालक की हत्या मामले के तीसरे आरोपी सारण जिले के जनता बाजार थाने के सरिस्तापुर निवासी कृष्णा सिंह के बेटे विकास कुमार की गिरफ्तारी के लिए बसंतपुर थानाध्यक्ष मुकेश कुमार के नेतृत्व में लगातार छापेमारी की जा रही है. सूचना है कि पुलिस की लगातार दबिश से विकास व उसके पिता दोनों ही भूमिगत हो गए हैं. बसंतपुर मुख्यालय के ग्राहक सेवा केन्द्र संचालक अरविंद कुमार हत्याकांड मामले में पुलिस को विकास की तालाश है. गिरफ्तार कर जेल भेजे गए बिटू कुमार व दीपक राय ने अपने स्वीकारोक्ति बयान में कहा है कि वे दोनों विकास के साथ केन्द्र पर पहुंचे थे. हम दोनों केन्द्र में घुसे और घटना को अंजाम दिया. वहीं विकास बाहर बाइक स्टार्ट कर खड़ा था. घटना को अंजाम देने के बाद हम दोनों विकास के साथ ही बाइक से भाग निकले. घटना के बाद से ही ग्राहक सेवा केन्द्र बंद है. मृतक अरविंद का छोटा भाई बाहर रहकर कमाता था. घटना के बाद वह घर लौट आया है व अरविंद के अंतिम संस्कार के बाद संबंधित रश्म को वही निभा रहा है. ऐसे में लोगों में चर्चा हो रही है कि श्राद्धकर्म के बाद सबकुछ ठीक रहा तो वही अब केन्द्र चलाएगा. कारण कि बड़े भाई के घर पर रहने की स्थिति में वह बाहर रहता था. अब हत्या के बाद बीमार पिता व परिवार के देखरेख की भी जिम्मेदारी उसी पर आ गई है. ऐसे में वह अब घर पर ही रहने का निर्णय ले सकता है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

हत्याकांड के बाद क्षेत्र में बढ़ी पुलिस की सक्रियता

बसंतपुर मुख्यालय में जिस दिलेरी के साथ अपराधियों ने ग्राहक सेवा केन्द्र संचालक की हत्या की, वह स्थानीय प्रशासन के लिए एक बुरे अनुभव की तरह था. बसंतपुर के नगर पंचायत बनने के बाद अब चुनाव की प्रक्रिया होनी है. ऐसे में यह एक मुद्दा भी बन गया. सांसद जनार्दन सिंह सीग्रीवाल व विधायक देवेशकांत सिंह भी परिजनों से मिले व पुलिस पर दबाव बनाया. नतीजा हुआ कि थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने इस चुनौती को स्वीकार करते हुए घटना के महज 72 घंटों के अंदर हत्या में शामिल दो अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. जबकि एक की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी भी कर रहे हैं. घटना से सबक लेते हुए पुलिस क्षेत्र में वाहन जांच अभियान भी चला रही है. वहीं पुलिस को यह भी सूचना मिली कि कई जगहों पर नशेबाजों का अड्डा हो गया है. पुलिस ऐसे जगहों पर भी छापेमारी कर रही है. थानाध्यक्ष को सूचना मिली थी कि देर शाम के समय बसंतपुर मुख्यालय के डाकबंगला परिसर के पास बने जिला परिषद के मार्केट में नशेड़ियों का जमावड़ा होता है. मंगलवार की देर शाम थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने पुलिस बलों के साथ वहां छापेमारी की. लेकिन वहां कोई नहीं मिला. थानाध्यक्ष ने बताया कि सूचना मिले जगहों पर लगातार छापेमारी की जा रही है.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here