पुलिस की पिटाई से घायल बीमार वृद्ध व सीआईएसएफ जवान की शिकायत पर डीजीपी ने लिया संज्ञान

0
police ne ki pitai

सदर एसडीपीओ ने किया मामले की जांच

परवेज अख्तर/सीवान:- कोरोना पोजेटिव मरीजो के मामले में जिले का हॉट स्पॉट बना हैं रघुनाथपुर थाना क्षेत्र कोरोना महामारी के तेजी से बढ़ते प्रभाव के रोकथाम हेतु सोशल डिस्टेंस व लॉकडाउन को प्रभावी रूप से अमल में लाने हेतु बिहार सैन्य बल बीएमपी सेवा लिया जा रहा हैं। थाना क्षेत्रो में मोटरसाइकिल से सघन गश्ती की जा रही हैं।मनचलों,घुमक्कडों व बेवजह घर से बाहर घूमने वालो की मोटरसाइकिल जब्त करते हुये डंडों से पीटा भी जा रहा हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

घटना:रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के मिर्जापुर निवासी व सीआईएसएफ का जवान महम्मद फरीद 19 अप्रैल को सुबह के 7 बजे अपने 70 वर्षीय बीमार पिता फ़ाहरुख खान जो हार्ड,सुगर सहित अन्य बीमारियों के मरीज हैं उनको डॉक्टर से दिखाने अपने छोटे भाई को मोटरसाइकिल पर बिठाकर रघुनाथपुर रेफ़रल अस्पताल ला रहे थे की रास्ते में ही बीएमपी की गश्ती पार्टी के जवानों ने रोककर बिना वजह जाने ताबड़तोड़ लाठी से मारना शुरू कर दिया।

जबकि फरीद अपने आप को एक जवान व आई कार्ड दिखाते रहा लेकिन बीएमपी के जवानों पर उसका कोई असर नही हुआ।घायलों का प्राथमिक उपचार स्थानीय रेफ़रल अस्पताल में कराया गया।उक्त घटना की शिकायत सीआईएसएफ जवान ने पुलिस अधीक्षक सीवान,जिलाधिकारी सीवान व पुलिस महानिदेशक बिहार से की। जिसपर डीजीपी ने संज्ञान लेते हुये जांचकर कारवाई किये जाने की बात कही।

उक्त घटना की जानकारी मिलते ही थानाध्यक्ष मनोज कुमार प्रभाकर ने पीड़ित सीआईएसएफ जवान से बीएमपी जवान की गलती को स्वीकार करते हुये पुलिस की ओर से क्षमा मांगते हुये घटना की जानकारी उक्त जवान के अधिकारियों को दी।डीजीपी के आदेश पर सदर अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी जितेन्द्र कुमार पाण्डेय ने घटना के दिन शाम के 7 बजे रघुनाथपुर थाने पहुच पीड़ितों का पक्ष जान मामले की जांच की। उन्होंने कहा कि घटना की जांच की जा रही है और जांच उपरांत ही कुछ कहा जा सकता है।