डिजिटल इंडिया अभियान का फर्जी नियुक्ति पत्र देकर युवक से ठगी

0
digital india

परवेज अख्तर/सिवान : डिजिटल इंडिया के नाम पर युवाओं से ठगी की जा रही है। गांव के युवाओं को विभिन्न पदों की नियुक्ति के लेटर भेजकर हर प्रति युवा से लाखों लाखों रुपये की ठगी की जा रही है। प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया मिशन के नाम का दुरुपयोग कर बेरोजगार युवाओं के साथ ठगी करने का मामला सामने आ रहा है। गांव में युवाओं को बिना आवेदन किए ही सीधे नियुक्ति पत्र मिल रहे हैं। ऐसा ही एक मामला जिले में भी सामने आया है, जिसमें युवक के साथ ठगी की गई है। पीड़ित अब न्याय के लिए थाना से लेकर बड़े बड़े अधिकारी को पत्र देकर न्याय की गुहार लगा रहा है। हुसैनगंज थाना क्षेत्र मड़कन गांव निवासी गुड्डू कुमार यादव ने बताया कि मैं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करता हूं। 18 सितम्बर को मुझे एक डाक के का माध्यम से डिजिटल इंडिया मिशन दूर संचार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा भेजा गया। इसमें एक नियुक्ति पत्र प्राप्त हुआ जिसमें मेरा चयन व स्थाई सरकारी सेवा हेतु करने की बात कही गई। नियुक्ति पत्र का पत्रांक संख्या 4426/167 है नियुक्ति पत्र में जमानत कि राशि के रूप में 15 हजार 700 ट्रेनिंग सिक्योरिटी शुल्क के रूप में मांग कि गई थी, जिसे मैंने 19 सितम्बर को भेज दिया। इसके बाद मुझसे पुन मोबाइल से फोन कर और पैसों की मांग उस आधार पर कि जाती रही, कि उसमें ट्रेनिंग हेतु पैसा लगाता है तथा ट्रेनिंग के बाद पैसा वापस कर दिया जाएगा। मेरे द्वारा उनके निदेशानुसार जमानत राशि 15 हजार 700 के अलावा 21 सितम्बर को 22 हजार ,25 सितम्बर को 12हजार तथा 8 अक्टूबर को 3000 रुपया उनके द्वारा भेजे गए खाता नंबर पर भेज दिया गया। उनसे बात करता हूं तो या तो वे फोन रिसीव ही नहीं करते हैं या जब फोन उठाते है तो कोई भी संतोषजनक जबाब नहीं देते हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि मुझे इस तरह कि नियुक्ति पत्र भेजकर मेरे साथ धोखाधड़ी हुई है तथा धोखे से मुझसे कुल 52 हजार 700 रुपया ठग लिया गया है।