आयुष्मान पखवाड़ा के सफल क्रियान्वयन को लेकर जिलाधिकारी ने की समीक्षा बैठक

0
  • डीएम ने कहा- अंर्तविभागीय समन्वय के साथ तैयार करें माइक्रोप्लान
  • जनप्रतिनिधियों व विकास मित्र का भी लिया जायेगा सहयोग
  • जिले में 17 फरवरी से 3 मार्च तक कैंप लगाकर बनेगा आयुष्मान कार्ड
  • जिले में अब 88 हजार से अधिक लाभुकों को मिला कार्ड

सिवान: जिले में 17 फरवरी से 3 मार्च तक आयुष्मान पखवाड़ा का आयोजन किया जायेगा। इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर गुरूवार को जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। समीक्षा बैठक के दौरान डीएम अमित कुमार पांडेय ने निर्देश दिया कि अंर्तविभगीय समन्वय के साथ दो दिनों के अंदर माइक्रोप्लान तैयार करना सुनिश्चित करें। प्रखंड स्तर पर बीडीओ को यह जिम्मेदारी दी गयी है कि बैठक कर माइक्रोप्लान तैयार करें, इसमें प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं बीसीएम के द्वारा सहयोग किया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। जिसे शत-प्रतिशत सफल बनाने में सभी की सहभागिता अनिवार्य है। खासकर पंचायती राज के प्रतिनिधियों की अहम भूमिका है। डीएम ने कहा कि पखवारा में अधिक से अधिक गोल्डन कार्ड बनाने में सहयोग प्रदान किया जाए। पात्र लाभार्थी को इस योजना के तहत 5 लाख प्रति वर्ष मुफ्त इलाज के लिए सरकार द्वारा सूचीबद्ध अस्पतालों में उपलब्ध कराया जाता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जिलाधिकारी ने की समीक्षा बैठक 1 1

प्रखंडस्तर पर बीडीओ बनाएं माइक्रोप्लान

जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने कहा कि प्रखंडस्तर प्रखंड विकास पदाधिकारी की जिम्मेदारी है कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, बीसीएम, मुखिया, वार्ड सदस्य व विकास मित्र समेत अन्य विभाग के कर्मियों के साथ बैठक कर माईक्रोप्लान तैयार करना सुनिचित करेंगे। इसके साथ पंचायत स्तर पर मुखिया के साथ मिटिंग की जायेगी। डीएम ने निर्देश दिया कि ससमय माईकोप्लान तैयार कर जिला मुख्यालय को उपलब्ध कराया जाये। डीएम ने कहा कि शिविर के आयोजन को लेकर प्रचार- प्रसार किया जाएगा। सभी ग्राम पंचायतों में शिविर का आयोजन एवं योजना के लाभ के लिए विषय में माइकिंग के द्वारा प्रचार- प्रसार किया जाएगा। इसके साथ ही प्रखंड स्तर पर बीईओ से समन्वय स्थापित कर स्कूलों में भी इस संबंध मे प्रचार प्रसार करना सुनिश्चित करेंगे।

कार्यपालक सहायक नि:शुल्क बनाएंगे कार्ड

सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि पखवाड़ा के दौरान पंचायती राज विभाग अंतर्गत पंचायत स्तर पर पंचायती राज कार्यपालक सहायक की सेवा उपलब्ध है। जिनकी सेवा पूर्व के विषय विशेष अभियान में सफलतापूर्वक ली गई है। इस अभियान में भी ली जाएगी। जिन ग्राम पंचायतों में पंचायती राज कार्यपालक सहायक उपलब्ध नहीं हैं , वहां आयुष्मान पखवाड़े तक के लिए जिला पदाधिकारी के द्वारा अन्य विभागों यथा स्वास्थ्य विभाग, ग्रामीण विकास विभाग आदि के कार्यपालक सहायक की सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। सीएस ने कहा कि पखवाड़ा के दौरान प्रतिदिन शाम प्रखंडस्तर पर बैठक की जायेगी और इसका प्रतिवेदन जिला मुख्यालय को उपलब्ध कराया जायेगा। इस अभियान की मॉनिटिरिंग के लिए प्रत्येक पंचायत में एक पर्यवेक्षक प्रतिनियुक्त किया जायेगा।

अब तक 88 हजार अधिक लाभुकों को मिला कार्ड

आयुष्मान भारत के जिला योजना समन्वयक राजकिशोर ने पीपीटी के माध्यम से पखवाड़ा के बारे में विस्तार से बताया और उन्होने कहा जिले में अब 88 हजार 992 लाभुकों को कार्ड बनाया गया है। कुल 11 लाख 18 हजार 308 लाभार्थियों को इस सुविधा का लाभ देना है। उन्होने बताया कि पखवाडा के दौरान लाभार्थियों को नि:शुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जायेगा। इसके लिए कार्यपालक सहायको को प्रति कार्ड पर 5 रूपये इंसेन्टिव भी दिया जायेगा। उन्होने बताया कि जिस गांव अब तक किसी का कार्ड नहीं बना है उस गांव में विशेष रूप से फोकस किया जायेगा। जिले में अब 95 गांव है जहां अब तक किसी लाभुक को कार्ड नहीं मिला है। बैठक में जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय, पंचायती राज पदाधिकारी, सीएस डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा, डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन, उपाधीक्षक, डीपीसी इमामुल होदा, आयुष्मान भारत के डीपीसी राजकिशोर,सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, आईसीडीएस, जीविका के पदाधिकारी मौजूद थे।

शिविर में इन बातों का रखना होगा ध्यान

  • कोविड-19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड-19 के संबंध में सरकार द्वारा निर्गत दिशा निर्देशों का अनुपालन करना अनिवार्य होगा
  • आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं इसकी विशेषताओं से संबंधित बैनर एवं पोस्टर लगाया जाएगा
  • सभी पात्र लाभुकों को इस योजना के संबंध में तैयार किए गए पंपलेट एवं सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची उपलब्ध कराई जाएगी