गल्लामंडी की खुदरा दुकानें खोलने एवं गोरियाकोठी में रोड बनाने का डीएम ने दिया निर्देश, एआईएसएफ का प्रतिनिधिमंडल डीएम से मिला

0
siwan ke DM amit kumar

परवेज़ अख्तर/सिवान :- गल्लामंडी की खुदरा दुकानें खोलने एवं गोरियाकोठी में रोड बनवाने के लिए निर्देश सीवान जिलाधिकारी ने दिया है। ऑल इण्डिया स्टूडेंट्स फेडरेशन ( एआईएसएफ) के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने सीवान जिलाधिकारी अमित कुमार पाण्डेय से आज मुलाकात किया। प्रतिनिधिमंडल में शामिल एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार,विशाल कुमार एवं संदीप शर्मा ने जिलाधिकारी से कहा कि गल्लामंडी में खुदरा दुकानें बंद होने से दुकानदारों के सामने भुखमरी की नौबत आ चुकी है। दुकानें बंद रहने से काफी मात्रा में सामान खराब हो गए। वहीं आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति भी लंबे दिनों तक प्रभावित हुई है। विगत 6 जुलाई से हीं कंटेन्मेंट जोन बनाकर दुकानें बंद कर दी गई। कई बार जिलाधिकारी से एवं जिलाधिकारी के कहने पर सदर एसडीओ व डीएसओ से एआईएसएफ प्रतिनिधियों ने बात किया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

जिलाधिकारी ने 15 दिनों पूर्व हीं इस पर आवश्यक निर्देश देने की बात कहते हुए अभी तक दुकानों के नहीं खोलने पर हैरानी जतायी। उन्होंने तत्काल सदर एसडीओ राम बाबू बैठा से फोन पर बात कर गल्लामंडी की दुकानों को खोलवाने एवं आज हीं शाम में एसडीओ को गल्लामंडी जाने का निर्देश भी दिया। वहीं गोरियाकोठी के बिन्दवल पंचायत के गाछी टोला में रोड बनवाने हेतु आवश्यक कार्रवाई का निर्देश जिलाधिकारी ने फोन पर गोरियाकोठी प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिया। प्रतिनिधिमंडल ने जिलाधिकारी से कहा कि आज़ादी के 73वर्षों के बाद भी आज भी वहाँ सड़क निर्माण नहीं हो पाया है। उक्त जगह पर आने जाने का कोई रास्ता नहीं है।

दलित बस्ती होने की वजह अक्सर बात दबा दी जाती है।अक्सर बरसात में पूरा बस्ती जलमग्न हो जाता है। मुखिया,जनप्रतिनिधियों एवं बीडीओ को ज्ञापन दिया गया लेकिन कोई असर नहीं हो पाया। जिलाधिकारी ने गोरियाकोठी प्रखंड विकास पदाधिकारी को फोन कर मुख्यमंत्री के सात निश्चय योजना के तहत अभी तक रोड के लिए कोई पहल नहीं होने पर जबाव तलब किया और अपने स्तर से आवश्यक कार्रवाई कर सूचित करने का निर्देश उन्होंने गोरियाकोठी बीडीओ को दिया। प्रतिनिधिमंडल के अतिरिक्त आज समाहरणालय पहुँचने वालों में अजय कुमार मांझी, नन्दू कुमार,जितेन्द्र कुमार माँझी, राजेश कुमार मांझी, गोविंदा कुमार राम, अमित मांझी,अजीत मांझी, आदित्य मांझी भी मौजूद थे।