डीएम व एसपी ने किया निरीक्षण दो बजे तक ही खुली दुकानें

0

परवेज अख्तर/गोपालगंज:- लगातार बढ़ रहे कोरोना के संक्रमितों की संख्या के बाद जिला में दुकानों के खुलने के समय मे भी परिवर्तन किया गया।आज दुकान दो बजे तक ही खुली उसके बाद बन्द हो गयी। यह नियम शहरी व ग्रामीण इलाकों में देखा गया। समूचे जिलेभर में भय व दहशत का माहौल कायम हो गया है। गुरुवार को इसका सर्वाधिक असर देखने को मिला।शहर से लेकर गांव तक सभी अपने अपने घरों में दुबके रहे।बहुत आवश्यक कार्य होने पर ही लोग घरों से बाहर नजर आएं उन्हें भी पुलिस के सख्ती का सामना करना पड़ा।आज भी डीएम अरसद अजीज व एसपी मनोज कुमार तिवारी सुबह से सड़कों पर आ कर लॉक डाउन का पालन करने का निर्देश देते नजर आए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

इस दौरान अधिकारियों ने मरीजों व संदिग्धों के रहने के लिए बनाएं गए विभिन्न शिविरों का निरीक्षण भी किया व अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए।अम्बेडकर चौक ,बंजारी आदि स्थानों पर तो एसपी ने खुद वाहनों को रोक कर पूछताछ किया। जिन जिन गांवों में कोरोना के संक्रमितों की पहचान की गई है उन गांवों को तीन किमी के एरिया में सील कर दिया गया है।सभी चौक चौराहों पर पुलिस व मजिस्ट्रेट आदि की तैनाती की गई है।पंचदेवरी , भोरे,मांझा,फुलवरिया व गोपालगंज सदर प्रखंड के बीडीओ,सीओ व थानाध्यक्ष स्वास्थ्य टीम के साथ संक्रमण वाली गांव में लगातार कैम्प कर रहे है ।ग्रामीणों ने भी आज सतर्कता दिखाते हुए भोरे पंचदेवरी व मांझा के विभिन्न छोटी बड़ी मार्गों को सील कर दिया व रास्ते पर बोर्ड लगा दिया कि किसी का आना जाना वर्जित है।

सभी शिविरों में भोजन व स्वास्थ्य की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा करवाया गया है।यूपी के सीमावर्ती इलाकों से प्रत्येक दिन काफी संख्या में मजदूर एनएच के माध्यम से बिहार में प्रवेश कर रहे है।जिन्हें बिहार व यूपी के सीमा पर ही रोक कर जांच के बाद मेडिकल शिविर में भेज दिया जा रहा है।सनद रहे कि लम्बा लॉक डाउन के कारण दिल्ली, रोहतक, राजस्थान, सूरत ,गुजरात आदि स्थानों से मजदूर पैदल अथवा साइकिल से ही अपने अपने घरों के लिए निकल पड़े है जो बल्थरी चेक पोस्ट के माध्यम से बिहार में प्रवेश कर रहे है।इन मजदूरों को भोजन आदि की व्यवस्था भी सामाजिक लोगों द्वारा की जा रही है। मांझा प्रखंड के सभी गांवों में दहशत व्याप्त है।लोग अपने अपने घरों में दुबके है बाजारों में भीड़ नही के बराबर हो गयी है काफी आवश्यकता होने पर ही लोग घर से आज बाहर निकले।पुलिस अनावश्यक घूमने वाले लोगों से जुर्माना वसूल रही है।