डॉक्टर अशरफ कोरोना योद्धा की भूमिका निभाते खुद हो गए कोरोना संक्रमित

0

फिर दिए कोरोना को मात

परवेज़ अख्तर/सिवान:- बड़हरिया में कोरोना महामारी के इस दौर में कई पदाधिकारियों के पुरुषार्थ,समर्पण,निष्ठा,कर्मठता व प्रतिबद्धता उभरकर सामने आ रहे हैं. इन तमाम मानवीय मूल्यों के चलते इनकी चर्चा कोरोना वारियर्स के रुप में हो रही है. इन्हीं कोरोना फाइटर्स में डॉ अशरफ अली का नाम चर्चा में रहा है. वे14 मार्च से ही कोरोना संदिग्धों की स्वास्थ्य जांच में जुटे थे. लेकिन सात अगस्त को उनकी जाच रिपोर्ट पॉजिटिव आ गयी. उसके बाद वे 14 दिनों के होम कोरेंटिन में चले गये.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads
adssss

20 अगस्त को रैपिड एंटीजन किट से हुई जांच में वे नेगेटिव पाये गए. कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए डॉ अशरफ अली ने बताया कि उन्हें अभी कमजोरी महसूस हो रही है. इसलिए वे आगामी चार-पांच दिनों बाद ही अपने क्रियाकलापों में सक्रिय हो सकेंगे. उन्होंने कहा कि किसी भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति से दूरी नहीं बनाये.कोरोना संक्रमित व्यक्ति से बचें. साथ ही, उसे उन्हें नैतिक रुप से प्रोत्साहित करें. मोरली बुस्टअप करना कोरोना संक्रमित व्यक्ति के रामबाण होगा. यह सभी इलाजों में सर्वोपरि है. बहरहाल, डॉ अशरफ अली कोरोना की जंग जीत चुके हैं.