दहेज लोभियों ने की विवाहिता की हत्या

0
patni ki htya

​परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के नौतन थाना क्षेत्र के हसुआ में दहेज लोभियों द्वारा एक विवाहिता की हत्या कर दी और शव को आनन फानन में जलाने के लिए श्मसान घाट ले जाने की तैयार भी कर दी थी लेकिन इसकी भनक किसी तरह से मृतका के परिजनों को लग गई। इसके बाद मृतका के परिजनों ने श्मसान घाट पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया। परिजनों ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने परिजनों से शव को अपने कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मामले में मृतका के चाचा वीरेंद्र शर्मा के बयान पर ससुराल पक्ष के पारस शर्मा, रमावती देवी, मुन्ना शर्मा सहित अन्य लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है। वहीं परिजनों ने बताया कि पूर्व में भी विवाहिता को जाने से मारने की कोशिश की थी, लेकिन इसकी सूचना परिजनों को मिलने के बाद समझौता करा मामले को शांत कराया गया था। वहीं मृतका के गले में निशान पाया गया है। मृतका जीरादेई थाना क्षेत्र के मुकूंदपुर के सूरी लाल शर्मा की पुत्री ममता देवी थी। वहीं मृतका को एक 10 वर्ष और 6 वर्षीय बेटा हैं। मामले में मृतका के चाचा वीरेंद्र शर्मा ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए बताया कि ममता की शादी हिंदू रीति रिवाज के अनुसार 2006 में नौतन थाना क्षेत्र के हसुआ निवासी मुन्ना शर्मा से हुई थी। शादी के समय में 11 लाख रुपये दहेज के तौर पर मांगे गए थे, लेकिन हमलोगों द्वारा साढ़े तीन लाख रुपये ही दिया गया। इसके बाद उसके साथ ससुराल वालों ने मारपीट शुरू कर दी। पिछले वर्ष भी उसे मारने की कोशिश की गई थी, लेकिन इसकी जानकारी परिजनों को मिल गई तो किसी तरह से पंचायत के माध्यम से समझौता कराया गया। लेकिन मंगलवार को अचानक सूचना मिली कि ममता की हत्या कर उसके शव को जलाने की तैयारी ससुराल वालों द्वारा की जा रही है। इसके बाद जब श्मसान घाट गए तो उसका शव वहां पड़ा हुआ था और ससुराल पक्ष से सभी लोग फरार थे। मृतका के चाचा ने बताया कि पहले ससुराल वालों ने सूचना दिया कि ममता सीढ़ी से गिर गई है और उसकी मौत हो गई है। जैसे ही हमलोग वहां पहुंचे शव को छोड़कर ससुराल वाले भाग गए। पुलिस ने आवेदन लेकर प्राथमिकी की कार्रवाई शुरू कर दी है।