अफवाहों से रहें सावधान! शराब पीने से कोरोना वायरस से नहीं होता है बचाव, स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

0
bear
  • अल्कोहल का शरीर पर नहीं करें छिड़काव
  • आंख व मुँह के लिए हानिकारक साबित हो सकता अल्कोहल

सिवान:- वैश्विक महामारी नोवेल कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन लागू किया गया है। स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन की ओर से इससे बचाव को लेकर तमाम प्रयास किए जा रहे हैं । हालांकि सोशल मीडिया के माध्यम से कई ऐसे अफवाह फैलाई जा रही हैं, जिससे लोगों में भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है. सोशल मीडिया के माध्यम से एक ऐसे ही अफवाह फैलाई गई है कि शराब पीने या शराब का छिड़काव शरीर पर करने से करोना वायरस से बचाव हो सकता है या फिर कोरोनावायरस मर सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने स्पष्ट किया है कि अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं और गंदा होने पर अल्कोहल बेस्ड हेंडवॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं। जिसे कुछ लोगों द्वारा गलत रूप से प्रचारित कर यह कहा जा रहा है कि जैसे अल्कोहल बेस्ड हेंडवॉश से कोरोना से बचाव हो सकता है, वैसे ही अल्कोहल के सेवन करने से भी कोरोना वायरस खत्म हो सकता है. इसको लेकर विश्व स्वास्थ संगठन ( डब्ल्यूएचओ) ने एक एडवाइजरी जारी कर जवाब दिया है कि शराब पीने या अल्कोहल या क्लोरीन के छिड़काव करने से कोरोना वायरस से बचाव का कोई साक्ष्य अब तक नहीं मिला है। ऐसे में अत्याधिक शराब का सेवन करने से स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है । डब्ल्यूएचओ ने जारी एडवाइजरी में स्पष्ट किया है कि शराब पीने से कोरोना वायरस से सुरक्षा नहीं मिलती है और यह खतरनाक साबित हो सकता है। अधिक शराब के सेवन से आपकी स्वास्थ्य समस्याएं बढ़ सकती है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पीआईबी ने भी फैक्ट चेक में किया खुलासा

प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने अपने भी इस मिथक के बारे में फैक्ट चेक किया है। पीआईबी के फैक्ट में चेक में भी यह साबित हुआ है कि शराब के सेवन करने से कोरोना वायरस से बचाव नहीं होता है।

अफवाहों से बचें

स्वास्थ्य विभाग ने आम जनों से अपील की है कि अफवाहों से सावधान रहें। बिना पुष्टि के किसी भी पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर नहीं करें। किसी भी पोस्ट को शेयर करने से पहले उसकी सत्यता की जांच जरूरी है। कोरोना वायरस को लेकर बिना विशेषज्ञ की सलाह के किसी भी तरह का प्रयोग न करें।

बचाव ही एकमात्र उपचार

कोरोना वायरस से निबटने के लिए कई जगहों पर प्रयोग किए जा रहे हैं। संक्रमण से बचाव ही कोरोना से बचने का सही रास्ता हो सकता है। इसके लिए जितना संभव हो, भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचने की कोशिश की जानी चाहिए। समय-समय पर सेनिटाइजर, हैंड रब या साबुन से हाथ अच्छी तरह रगड़कर 20 सेकंड तक धुलते रहना चाहिए। घर से बाहर जाने पर वापस आने के बाद हाथों को अवश्य धुलें। हाथ मिलाने, गले मिलने की बजाय दूर से ही बात करना बेहतर है। इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग यानी लगभग तीन फीट की दूरी से ही किसी से बात करनी चाहिए।

इन बातों का रखें ख्याल

•  यदि घर से बाहर निकलना पड़े तब लोगों से 1 मीटर की दूरी जरुर बनायें
•  घर आने के बाद हाथों को 20 सेकंड तक पानी एवं साबुन से धोएं
•  बाहर में किसी भी चीज को छूने से परहेज करें
•  लॉकडाउन के नियमों के सख्ती से पालन करें