दवा व्‍यवसायी पर फायरिंग मामले में एक अपराधी गिरफ्तार, बक्‍सर जेल से जुड़ा कनेक्‍शन

0

​परवेज अख्‍तर, सिवान : 26 मार्च की रात शहर के फतेहपुर स्थित चंद्रज्योति सर्जिकल के मालिक अनिल यादव पर लूट में विफल होने पर अपराधियों द्वारा फायरिंग किए जाने के मामले में पुलिस ने सीसी कैमरे से निकाले गए तस्वीर के आधार पर कांड में शामिल दूसरे अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार अपराधी की पहचान दारौंदा के पकवलिया निवासी अजय सिंह के रूप में हुई। पुलिस ने इसे इसके घर से गिरफ्तार किया है। मामले में एसपी नवीन चंद्र झा ने बताया कि गिरफ्तार अजय ने पूछताछ के क्रम में बताया कि वह दवा व्यवसायी अनिल सिंह को गोली मारने में शामिल था। एसपी ने बताया कि रविवार को दारौंदा पुलिस एवं एसआइटी की संयुक्त छापेमारी के बाद उसकी गिरफ्तारी हुई। गिरफ्तारी के बाद अजय सिंह ने पुलिस को घटना के बारे में सारी जानकारी दिया। अजय की पहचान सीसी फुटेज में मुंह में गमछा बांधे व्यक्ति के रूप में हुई थी। अजय ने पूछताछ के क्रम मेंबताया कि वह बक्सर जेल में बंद चंदन सिंह के लिए काम करता है। दवा व्यवसायी से लूट की योजना चंदन सिंह के इशारे पर बनी थी। इसके लिए मार्च में अजय ने बक्सर जेल में जाकर चंदन से मुलाकात की थी। चंदन सिंह ने ही घटना को कैसे अंजाम देना है इसका पूरा खाका तैयार किया था। अजय ने पुलिस को बताया है कि चार-पांच माह पूर्व चंदन सिंह ने दवा व्यवसायी से रंगदारी की मांग की थी, लेकिन नहीं दिए जाने के बाद से लूट की योजना बनी थी। योजना में कौन-कौन शामिल होगा इसका पूरा डाटा चंदन सिंह ने ही दिया था। ज्ञात हो कि 26 मार्च को शहर के फतेहपुर दुर्गा मंदिर चुआठ गली तिवारी मार्केट स्थित चंद्रज्योति सर्जिकल के मालिक अनिल यादव को लूट की नियत से आए अपराधियों ने लूट में विफल होने के बाद गोली मार दी। गोली मारने वालों में तीन अपराधियों का चेहरा सीसी फुटेज में कैद हो गया था। जिसमें सीसी फुटेज में अजय सिंह शामिल था। मामले में पूछताछ जारी है एवं अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। बाल सुधार गृह में बंद तीन अभियुक्तों को रिमांड पर लेने के लिए पुलिस ने किया दवा व्यवसायी अनिल यादव गोलीकांड में शामिल बाल सुधार गृह छपरा में बंद तीन अभियुक्तों को रिमांड पर लेने के लिए पुलिस ने शनिवार को न्यायालय में प्रे कर दिया है। एएसपी कार्तिकेय शर्मा ने बताया कि बाल सुधार गृह में बंद करण यादव, रॉबिन महतो एवं ऋषभ राज को रिमांड पर लेकर पूछताछ के लिए प्रे किया गया है। दवा व्यवसायी गोलीकांड में तीनों की संलिप्तता का पुख्ता सबूत पुलिस के पास है एवं इन लोगों ने भी अपनी सहभागिता स्वीकार कर लिया है, लेकिन किसके इशारे पर इस घटना को अंजाम दिया, इसकी जानकारी के लिए पुलिस रिमांड पर ले रही है।
न्यायालय से अनुमति मिलने के बाद पुलिस रिमांड पर लेगी।​