रोशनी से नहाया पूरा बिहार, हर तरफ दिखाई दिया दिवाली का उल्लास

0

पटना: पिछले साल कोरोना के कारण दीपावली की खुशियां भी क्वारंटाइन हो गई थीं। न वो उल्लास ही था और न ही जोश। बीमारी के डर के बीच लोगों ने दीपावली पर सिर्फ खानापूरी की थी। इस साल लोगों ने राहत की सांस ली ली तो दीपावली पर उसका उत्साह भी दिखाई दिया है। बाजारों से लेकर घर तक जगमगा उठे हैं। गांव से लेकर शहर तक लोगों में दीप उत्सव का उत्साह देखने को मिल रहा है। पटना, मुजफ्फरपुर, भागलपुर से लेकर सभी जिलों में शाम ढलते ही जगमग दीपों की रोशनी नजर आई। रंग बिरंगी लड़ियां लोगों के घरों पर रोशन हो गईं। अररिया में आकर्षक तोरण द्वार दिखाई दिये। काली मंदिर भी विशेष आकर्षण का केंद्र रहा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

दुर्गापूजा के बाद पुलिस की चुनौती दिवाली और काली पूजा पर शांति बनाए रखने की है। दोनों त्योहरों के मद्देनजर पुलिस ने राज्य के 28 जिलों में चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं, जो सांप्रदायिक दृष्टिकोण ने संवेदनशील माने जाते हैं। पुलिस मुख्यालय ने इन जिलों में विशेष सतर्कता बरतने को कहा है। इसके अतिरिक्त त्योहारों के मद्देनजर कई अन्य दिशा-निर्देश जिलों के एसएसपी और एसपी को दिए गए हैं।

त्योहार के दौरान इन जिलों पर विशेष फोकस

दिवाली और काली पूजा के दौरान विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न नहीं हो और सांप्रदायिक सौहार्द बना रहे इसके लिए पुलिस मुख्यालय ने संवेदनशील जिलों को चिह्नित करते हुए दिशा-निर्देश दिए हैं। सांप्रदायिक लिहाज से पटना, भोजपुर, नालंदा, नवादा, जहानाबाद, रोहतास, औरंगाबाद, सीवान, मुजफ्फरपुर, बेतिया, मोतिहारी, गया, भागलपुर, मुंगेर, जमुई, बेगूसराय, दरभंगा, मधेपुरा, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार, अररिया, अरवल, शिवहर, सीतामढ़ी और सारण संवेदनशील हैं। पुलिस मुख्यालय ने इन जिलों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। खासकर असमाजिक तत्वों और सोशल मीडिया पर पैनी नजर रखने को कहा गया है। असमाजिक तत्व त्योहारों पर शांति व्यवस्था को भंग करने की फिराक में रहते हैं। ऐसा न हो इसके लिए रात के वक्त गश्ती दल को सक्रिय रखने के साथ किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के आदेश दिए गए हैं।

अग्निशमन दल को मुस्तैद रखने के निर्देश

पुलिस मुख्यालय ने जिलों के एसएसपी और एसपी को दिए निर्देश में दिवाली पर अग्निशमन दल को मुस्तैद रखने को कहा है ताकि पटाखों या शॉर्ट सर्किट के कारण अगलगी की घटनाओं से निपटने में देर न हो। पुलिस मुख्यालय ने वैसे इलाके जहां पर्व-त्योहार पर पूर्व में सांप्रदायिक तनाव की घटनाएं हुई हैं वहां विशेष प्रशासनिक सतर्कता बरतने के भी आदेश दिए हैं।