डीएलएड में नामांकन के लिए नहीं होगी प्रवेश परीक्षा

0
  • 100 सीटों पर नामांकन के लिए 4 जनवरी तक होगा आवेदन
  • दो वर्षीय डीएलएड कोर्स के लिए मैट्रिक और इंटर में प्राप्त अंकों के प्रतिशत के आधार पर होगा नामांकन
  • नामांकन के लिए 50 फीसदी अंक के साथ इंटर पास होना अनिवार्य

गोपालगंज: दो वर्षीय डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन डीएलएड कोर्स में नामांकन अब मेरिट लिस्ट के आधार पर होगा। जिले में डीएलएड कोर्स के लिए सौ सीटों पर एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। कोरोना महामारी से अत्यधिक विलंब और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा प्रवेश परीक्षा में असमर्थता से यह निर्णय लिया गया है। इस संबंध में निदेशक शोध एवं प्रशिक्षण डायट को पत्र भेजकर निर्धारित शेड्यूल के अनुसार नामांकन का निर्देश दिया है। डीपीओ लेखा सह प्राचार्य डायट मिथिलेश कुमार सिंह ने बताया कि डीएलएड कोर्स में नामांकन के लिए सामान्य कोटि के छात्रों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक 50 फीसदी अंक के साथ इंटर और अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए पांच फ़ीसदी छूट दी गई है। बता दें कि दो वर्षीय डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन कोर्स की पढ़ाई जिले के थावे प्रखंड में स्थित डिस्ट्रीक इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग( डायट ) में होती है। यहां सौ सीटों के लिए अभ्यर्थियों का नामांकन लिया जाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जारी किया जा चुका है शेड्यूल

डीएलएड 2020 22 सत्र में नामांकन शेड्यूल जारी हो चुका है। 21 दिसंबर से आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 4 जनवरी 2021 तक ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। 11 जनवरी को मेधा सूची का निर्माण तथा नामांकन समिति की बैठक होगी।

छात्रों को करना होगा ऑनलाइन आवेदन

नामांकन के इच्छुक अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। निदेशक शोध एवं प्रशिक्षण के निर्देश के अनुसार जारी शेड्यूल के अनुसार नामांकन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इसके लिए जिला स्तर पर तैयारियां शुरू हो चुकी है। नामांकन के लिए जारी सभी गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। इसके लिए चार जनवरी तक आवेदन किया जाएगा।न्यूनतम उम्र 17 वर्ष अधिकतम आयु की सीमा नहीं डीएलएड कोर्स में नामांकन के लिए नामांकन वर्ष के जनवरी माह की 1 तारीख को अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष होगी। अधिकतम आयु की सीमा नहीं रखी गई है। इसके अलावा एनसीटीई द्वारा स्वीकृत कुल सीट का 5 प्रतिश निशक्त अभ्यर्थियों के लिए आरक्षित होगा। निशक्त एवं उर्दू अभ्यर्थियों के लिए क्रमश 5 प्रतिशत कुल 10 प्रतिशत आरक्षण लागू होगा।

मैट्रिक और इंटर का प्रतिशत होगा आधार

डीएलएड नामांकन में मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट का प्रतिशत आधार बनेगा। दोनों कक्षाओं के प्राप्त अंको के प्रतिशत का अवसर निकालते हुए मेधा सूची का निर्माण किया जाएगा। प्राप्त अंकों का प्रतिशत समान रहने पर उच्च योग्यताधारी को प्राथमिकता दी जाएगी। प्राप्त अंकों के प्रतिशत का आवश्यक योग्यता और जन्मतिथि समान रहने पर अंग्रेजी वर्णन में जो नाम पहले आएगा। उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी।