हर घर क्यारी, पोषण थाली कार्यक्रम के तहत किया गया पौधारोपण

0
poidha ropan
  • सदर शहरी परियोजना कार्यालय पर पौधारोपण कार्यक्रम का हुआ आयोजन
  • सहजन व अन्य फलदार पौधे लगाए गए

छपरा: जिले में कुपोषण को दूर करने के लिए सितंबर माह को पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इस दौरान आईसीडीएस विभाग के द्वारा समुदाय और स्तर पर तमाम गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को छपरा सदर शहरी क्षेत्र के बाल विकास परियोजना कार्यालय पर पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान सहजन, अमरूद, आम समेत अन्य फलदार पौधे लगाए गए। इस दौरान सीडीपीओ कुमारी उर्वशी ने कहा कि पौधों के वृक्ष बनने से पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा तो मिलेगा ही साथ ही स्वस्थ समाज की परिकल्पना भी साकार होगी। सहजन के प्रयोग से गर्भवती माताओं का स्वास्थ्य बेहतर होने के साथ कुपोषित बच्चों का कुपोषण भी दूर होगा। ये पौधे आम लोगों के लिए भी लाभकारी साबित होंगे। कहा कि वृक्षों के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। ऐसे में जरूरी है कि सभी अधिक से अधिक पौधे लगाएं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

poidha

सहजन के प्रयोग पर जोर

सीडीपीओ कुमारी उर्वशी ने बताया, आंगनबाड़ी केंद्रों पर सहजन के पौधे लगवाने का मुख्य उद्देश्य गर्भवती माताओं को इसके प्रयोग पर बल देना है। उन्हें प्रेरित किया जा रहा है कि सहजन की सब्जी, सूप आदि का प्रयोग करने से उनका स्वास्थ्य तो उत्तम होगा ही जन्में बच्चे भी स्वस्थ होंगे। इतना ही नहीं केंद्र के नौनिहालों को भी इसका सेवन कराया जाएगा ताकि उन्हें विटामिन युक्त आहार मिल सके।

पोषण परामर्श केंद्र में की जा रही है काउंसलिंग

सदर शहरी क्षेत्र के परियोजना कार्यालय में स्थापित पोषण परामर्श केंद्र में लाभार्थियों को पोषण के बारे में जानकारी दी जा रही है। यहां पर आने वाली महिलाओं एवं पुरुषों को पोषण के पांच सूत्रों के बारे में जानकारी दी जा रही है। पहले 1000 दिन, एनीमिया प्रबंधन, डायरिया प्रबंधन, स्वच्छता एवं साफ सफाई, पौष्टिक आहार आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है। उसके साथ ही 6 माह तक सिर्फ स्तनपान कराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। 6 माह के बाद बच्चों को पूरक आहार देने की बात बताई जा रही है।

ई रिक्शा के माध्यम से हो रहा है प्रचार प्रसार

जिले में पोषण के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए ई रिक्शा के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है जिले के सभी प्रखंडों में व्यापक रूप से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके साथ ही अभियान को सफल बनाने के लिए बीडीओ की अध्यक्षता में बैठक भी की जा रही है। मंगलवार को गरखा में प्रखंड विकास पदाधिकारी व सीडीपीओ ने हरी झंडी दिखाकर जागरूकता रथ को रवाना किया। वही अमनौर में प्रखंड विकास पदाधिकारी बिभु विवेक की अध्यक्षता में बैठक की गई। इस मौके पर सीडीपीओ वर्तिका सुमन, केयर इंडिया के बीएम आदित्य कुमार समेत अन्य मौजूद थे।