नगरा के रघुनाथपुर अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर परिवार नियोजन कैंप का आयोजन

0
  • परिवार नियोजन के बारे में महिलाओं व पुरूषों को दी गयी जानकारी
  • स्थाई व अस्थाई साधनों पर हुई चर्चा
  • परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने के लिए किया गया जागरूक

छपरा: जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा के तहत जिले के नगरा प्रखंड के रघुनाथपुर अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में परिवार नियोजन कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें इच्छुक दंपतियों व लाभार्थियों के बीच परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों का वितरण किया गया। साथ हीं एएनएम के द्वारा परिवार नियोजन के स्थाई व अस्थाई साधनों के बारे में जागरूक किया तथा परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया गया। कैंप आने वाली महिलाओं को परिवार नियोजन के अस्थायी तथा स्थाई साधनों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। परिवार नियोजन कैंप के दौरान बास्केट ऑफ चॉइस कंडोम, कॉपर-टी, अंतरा इंजेक्शन, छाया गोली आदि का निशुल्क वितरण किया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में अधिक जागरूकता

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक प्रेमा कुमारी ने कहा कि सीमित परिवार बेहतर प्रजनन स्वास्थ्य के साथ खुशहाल परिवार की पहचान होती है। दो से अधिक बच्चे होने पर बच्चों की बेहतर परवरिश बाधित होती है। इसके लिए परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थाई साधनों को बढ़ावा देना जरुरी है। परिवार नियोजन के प्रति पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में अधिक जागरूकता दिख रही है। पुरुषों को भी परिवार नियोजन के प्रति जागरूक होने की जरूरत है । आप और हम सबको मिलकर जनसंख्या को स्थिर करना है। इसके लिए समय से परिवार नियोजन के साधनों का प्रयोग भी करना होगा। संसाधन सीमित होने पर हम अपने बच्चों की सही से देखभाल नहीं कर पाते हैं । आज के समय की माँग है कि बच्चे दो ही अच्छे. जितने अधिक बच्चे होंगे समस्याएँ उतनी ही जटिल होंगी।

परिवार नियोजन के साधनों को अपनाना जरूरी

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक प्रेमा कुमारी ने बताया सीमित परिवार बेहतर प्रजनन स्वास्थ्य के साथ खुशहाल परिवार की पहचान होती है। दो से अधिक बच्चे होने पर बच्चों की बेहतर परवरिश बाधित होती है। इसके लिए परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थाई साधनों को बढ़ावा देना जरुरी है। इसे ध्यान में रखते हुए स्लम बस्ती में लोगों को परिवार नियोजन के स्थायी उपाय जैसे महिला एवं पुरुष नसबंदी, प्रसव उपरांत नसबंदी और अस्थायी उपाय जैसे कंडोम, कॉपर-टी, आईयूसीडी, अंतरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन, गर्भ निरोधक गोली आदि के बारे में जानकारी दी गयी. साथ ही परिवार नियोजन के साधन अपनाने पर सरकार द्वारा प्रदान की जा रही प्रोत्साहन धन-राशि के बारे में भी लोगों को बताया गया।

कोरोना से बचाव को दी गयी जानकारी

परिवार नियोजन के साथ-साथ महिलाओं व पुरूषों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव तथा सावधानियों के बारे में जानकारी दी गयी। इससे बचाव के लिए मास्क का उपयोग, नियमित हाथों की धुलाई, सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए प्रेरित किया गया।