वीएचएसएनडी से परिवार नियोजन कार्यक्रम को मिल रही गति, अस्थाई साधनों का हो रहा नि:शुल्क वितरण

0
  • टीकाकरण के साथ-साथ मिल रही है परिवार नियोजन पर जानकारी
  • वीएचएसएनडी को सशक्त करने में केयर इंडिया द्वारा किया जा रहा सहयोग
  • सामूहिक सहभागिता से लोगों को जागरूक करने की पहल

छपरा: परिवार नियोजन साधनों पर आम लोगों को जागरूक करने के मकसद से स्वास्थ्य विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है। इसको लेकर जिला स्तर से सामुदायिक स्तर पर कई जागरूकता अभियान भी चलाए जा रहे है। इसी कड़ी में ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस यानि आरोग्य दिवस की भूमिका भी अहम है। ग्रामीण स्तर पर प्रत्येक सप्ताह में दो दिन आरोग्य दिवस का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें टीकाकरण एवं प्रसव पूर्व जाँच के अलावा परिवार नियोजन कार्यक्रमों पर महिलाओं को सलाह दी जा रहा है। आरोग्य दिवस पर परिवार नियोजन साधनों पर बेहतर परामर्श की सुविधा उपलब्ध कराने में स्वास्थ्य विभाग के साथ केयर इंडिया भी सहयोग कर रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

सामूहिक सहभागिता पर ज़ोर

आरोग्य दिवस के आयोजन में आशा एवं एएनएम के साथ आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा भी सहयोग किया जा रहा है। परिवार नियोजन साधनों के इस्तेमाल में बढ़ोतरी के लिए आरोग्य दिवस पर आने वाली महिलाओं को परिवार नियोजन के साधनों के बारे में जानकारी दी जा रही है। गर्भवती माताओं को प्रसव के बाद परिवार नियोजन के बास्केट ऑफ़ चॉइस के बारे में एएनएम विस्तार से जानकारी दे रही है। धात्री माताओं को भी बच्चों में अंतराल रखने की सलाह के साथ उपलब्ध साधनों के बारे में भी बताया जा रहा है।

covid 19 1

परिवार नियोजन साधनों पर चर्चा

जिला स्वास्थ्य समिति के डीसीएम ब्रजेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि अब टीकाकरण के साथ-साथ महिलाओं को परिवार नियोजन पर भी जानकारी दी जा रही है। परिवार नियोजन साधनों पर चर्चा करने से बदलाव देखने को मिल रहे हैं। सही जानकारी नहीं होने के कारण बहुत सारी महिलाएं चाह कर भी परिवार नियोजन के साधन का इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं। कुछ महिलाएं ऐसी भी होतीं है जिन्हें परिवार नियोजन साधनों के विषय में बात करने में झिझक भी महसूस होती है। इस दिशा में आरोग्य दिवस पर महिलाओं को परिवार नियोजन साधनों की जानकारी देना काफ़ी कारगर साबित हो रहा है।

आरोग्य दिवस को सशक्त करने का प्रयास

केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक प्रेमा कुमारी ने बताया कि जिले में स्वास्थ्य विभाग के साथ केयर इंडिया वीएचएसएनडी पर दी जाने वाली सेवाओं की गुणवत्ता को सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहा है। इसमें एएनएम मुख्य रूप से महिलाओं को गर्भनिरोधक साधनों की जानकारी देती है। इसे ध्यान में रखते हुए विभिन्न आरोग्य दिवस का नियमित दौरा कर परिवार नियोजन परामर्श की गुणवत्ता पर ध्यान दिया जा रहा है। इसकी मॉनिटरिंग भी की जाती है।

इन साधनों की दी जा रही जानकारी

आरोग्य दिवस पर परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के बारे में जानकारी दी जा रही है। स्थायी साधनों में महिला नसबंदी एवं पुरुष नसबंदी एवं अस्थायी साधनों में कॉपर टी, गर्भ-निरोधक गोली(माला-एम एवं माला-एन), कंडोम एवं इमरजेंसी कंट्रासेपटीव पिल्स के बारे में बताया जा रहा है।

नवीन गर्भनिरोधक पर बल

नवीन गर्भनिरोधक ‘अंतरा एवं ‘छाया’ के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया जा रहा है। ‘अंतरा’ गर्भ निरोधक इंजेक्शन का इस्तेमाल एक या दो बच्चों के बाद गर्भ में अंतर रखने के लिए दिया जाता है। साल में इंजेक्शन का चार डोज दिया जाता है। वहीं ‘छाया’ गर्भ निरोधक एक साप्ताहिक टेबलेट है। इसे सप्ताह में एक बार सेवन करना होता है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here