वैज्ञानिक तरीके से खेती किसानों के लिए लाभप्रद

0
kishan

परवेज अख्तर/सीवान : मैरवा एवं दारौंदा प्रखंड मुख्यालय में शनिवार को रबी महोत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें किसानों को उन्नत कृषि की जानकारी दी गई। इस मौके पर काफी संख्या में किसान उपस्थित थे। मैरवा प्रखंड के ई-किसान भवन परिसर में रबी अभियान -2018 के अंतर्गत शनिवार को किसानों के लिए प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण सह कर्मशाला का आयोजन किया गया। इसमें रबी अभियान के तहत कृषि विभाग द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। रबी की बुवाई से लेकर मिट्टी की तैयारी बीज उपचार एवं पौधा संरक्षण के तरीके बताए गए। किसानों का रजिस्ट्रेशन किसान पुरस्कार सूखा राहत डीजल अनुदान, उद्यान मत्स्य से और जैविक खेती की जानकारी दी गई। प्रखंड कृषि पदाधिकारी जनार्दन प्रसाद यादव ने किसानों को जीरो टिलेज से गेहूं की खेती एवं अन्य पौधा व्याधि संबंधी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पैदावार बढ़ाने के लिए वैज्ञानिक तकनीकी को अपनाना होगा। इससे किसानों की आय बढ़ेगी। बीज के उन्नत प्रभेद का चयन करने की सलाह दी। इस अवसर पर किसानों को रबी फसल गेहूं, दलहन, तेलहन के बीज और कृषि यंत्र पर मिलने वाले अनुदान की जानकारी भी दी गई। इसके अलावा किसानों को वैज्ञानिक तरीके से खेती करने के गुर भी बताए गए। किसानों को चना, मसूर, गेहूं प्रत्यक्षण मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना के बारे में भी बताया गया।इस अवसर पर उप परियोजना निदेशक केके चौधरी, मत्स्य विभाग के मो. सुफियान अहमद, सहकारिता विभाग के अभिनव कुमार सिंह, मिट्टी जांच पदाधिकारी अशोक सिंह, प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी अशोक कुमार, प्रखंड कृषि समन्वयक राम मनोहर, नित्यानंद तिवारी, जयप्रकाश पांडेय, कामेश्वर सिंह, प्रखंड तकनीकी प्रबंधक कृष्णानंद सिंह, सहायक तकनीकी प्रबंधक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी और किसान सलाहकार धीरेंद्र शर्मा, प्रकाश कुमार, अजय कुमार सिंह भी मौजूद थे। दारौंदा प्रखंड कार्यालय परिसर में प्रखंडस्तरीय किसान कर्मशाला सह रबी महोत्सव काउद्घाटन बीएओ सतीश कुमार सिंह, पंचायती राज पदाधिकारी सुनील कुमार, प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी संजीत कुमार, तकनीकी प्रबंधक मनीष पांडेय, रवि कुमार सिंह एवं किसान सलाहकार समिति के अध्यक्ष सत्यदेव सिंह ने दीप प्रज्वलित कर किया। बीएओ ने बताया कि सरकार किसान पुरस्कार योजना के तहत अधिक उत्पादन करने वाले प्रखंड में अव्वल किसान को दस हजार रुपये देकर सम्मानित करेंगे। जिला स्तर पर वैसे किसान को 25 हजार रुपये देकर सम्मानित करेगी। बीएओ सतीश कुमार ने बताया कि किसान श्री के तहत दस हजार एवं प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। जिला में किसान गौरव को 25 हजार रुपये एवं राज्य स्तर पर किसान श्रेष्ठ को 50 हजार रुपये दी जाएगी। इसके लिए किसान 31 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। प्रशिक्षकों ने योजनाओं के साथ फसल की अधिक पैदावार लेने के लिए गुर बताए। प्रशिक्षण में व्यवसायिक खेती ओल, मखाना, केला, पपीता समेत तेलहन एवं दलहन खेती पर बल दिया गया। इस मौके पर विपिन चतुर्वेदी, कृष्ण कुमार, चंदेश्वर प्रसाद, मनोज कुमार, राजेश सिंह, वशिष्ठ प्रसाद, अकबर मियां, संजय कुमार सहित काफी संख्या में किसान उपस्थित थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal