गोपालगंज में बेख़ौफ़ अपराधियों ने किया फायरिंग, गांव में दहशत

0
  • पुलिस के अनुसार घटना का कारण पूर्व का विवाद बताया जाता है
  • घटना की तहकीकात में जुटी पुलिस
  • फायरिंग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

गोपालगंज: जिले के फुलवारिया थाना क्षेत्र के बथुआ बाजार मीरगंज मुख्य सड़क पर संग्रामपुर गोपाल गांव के समीप शनिवार की सुबह एक बाइक पर सवार सशस्त्र अपराधियों ने अंधा-धुंध फायरिंग कर दिया. जिसमें एक युवक बाल बाल बच गया. वही फायरिंग से पड़ोसी बाजार लाइन बाजार के अलावे पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल कायम हो गया. फायरिंग की सूचना पर आसपास के लोग दौड़ कर आते तब तक अपनी बाइक पर सवार होकर अपराधी फरार हो गए. हालांकि पुलिस ने फायरिंग की घटना से इनकार करते हुए पूर्व के बिबाद को लेकर दो पक्षों में झड़प होने की बात बताई है. इस संबंध में फायरिंग की घटना में बाल-बाल बचा संग्रामपुर गोपाल गांव के निवासी नंदू चौहान का लड़का नीरज कुमार ने एक लिखित शिकायत स्थानीय पुलिस को सौंपा है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जिस में फायरिंग की बात कही गई है. शिकायत में कहा गया है कि उसके घर के समीप खाली जमीन में कुछ दिन पूर्व से पड़ोसी गांव के युवक क्रिकेट का खेल खेलने के लिए प्रतिदिन शाम को आया करते हैं. खेल के दौरान अनेकों बार गेंद नीरज के घर में चला जाता था. जिसे खेल में शामिल अपरिचित युवक घर में घुसकर गेंद निकाला करते हैं. जिस का विरोध नीरज कुमार द्वारा लगातार किया जाता आ रहा है. बीते दिन शुक्रवार की सायं नीरज कुमार अपने दरवाजे पर बैठा था कि खेल में शामिल कुछ युवकों से उसे झड़प हो गया.

जिसे बीच बचाव कर ग्रामीणों ने मामला शांत कराया. उस घटना से आक्रोशित होकर पैकौली बदो व खान बैरिया के अलावे गांव के ही कुछ लड़के शनिवार को नीरज को खोजते हुए उस के दरवाजे पर पहुंचे. जहाँ नीरज गांव के समीप मुख्य सड़क के किनारे संचालित एक निजी शिक्षण संस्थान पर खड़ा था. इसी बीच बाइक सवार 3 की संख्या में हमलावरो ने घटना का अंजाम दिया. इस घटना को लेकर दो पक्षों में तनाव कायम है. वही घटना की सूचना पर पुलिस अवर निरीक्षक दीपक कुमार पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की तहकीकात में जुट गए.

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष

क्रिकेट खेलने को लेकर दो पक्षों के युवकों में विवाद हुआ था. जिसको लेकर विरोधी पक्ष के युवकों ने लप्पड़ थप्पड़ किया है. फायरिंग की बात गलत है।

थानाध्यक्ष, रामबाबू राम फुलवरिया