इसुआपुर गोलीकांड मामलें में चार लोगों पर दर्ज किया गया प्राथमिकी, क्रिकेट खेलने के दौरान चली थी गोली

0

छपरा:- इसुआपुर थाना क्षेत्र के रामपुर-अटौली पंचायत के महुली गांव में शनिवार को क्रिकेट खेल रहे युवाओं पर हुई गोलीबारी मामलें में घायलों के चाचा महुली गांव के तारकेश्वर साह ने इसुआपुर थाने में एफआईआर (FIR) दर्ज कराई है। जिसमें चार लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। अभियुक्तों में अटौली गांव के रामलाल मांझी का पुत्र पवन मांझी, महुली गांव के लालस महतो का पुत्र छोटू महतो व उसी गांव के अशोक ठाकुर का पुत्र राहुल ठाकुर तथा सढ़वारा गांव के बबन मांझी का पुत्र रवि कुमार मांझी शामिल हैं। ज्ञात हो कि शनिवार की दोपहर क्रिकेट खेलने के दौरान वर्चस्व को लेकर हुई गोलीबारी में जख्मी हुए चार खिलाड़ियों का प्राथमिक उपचार सीएचसी इसुआपुर में हुआ।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जहां से गंभीर स्थिति में उन्हें सदर अस्पताल छपरा रेफर कर दिया गया। वहां से भी शरीर के अंदर फंसे पिस्टल की गोली को निकाला नहीं जा सका। जिन्हें पीएमसीएच पटना रेफर कर दिया गया। हालांकि रविवार की शाम तक अमन के जांघ में लगी गोली को निकाला नहीं जा सका है। उनके पॉकेट में रखे मोबाइल को भेदते हुए पिस्टल की गोली जांघ में जा लगी है।जिन्हें पीएमसीएच से पटना के एक निजी नर्सिंग होम में ले जाया गया है। वहीं उनके भाई भूषण के किडनी को टच करते हुए गोली निकली है। उनका भी इलाज पटना के निजी नर्सिंग होम में चल रहा है।

जबकि पीएमसीएच में इलाजरत सुभाष के शरीर में फंसी गोली नहीं निकाली जा सकी है। चिकित्सकों ने तीन महीने बाद ऑपरेशन कर गोली निकाले जाने की बात कही है। वहीं गोली से घायल बिट्टू मिश्रा का भी इलाज पीएमसीएच पटना में चल रहा है। घायलों को हर सम्भव मदद के लिए तरैया विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी विधायक जनक सिंह एवं विधायक के भतीजे पप्पू सिंह हमेशा तत्पर रहे है व आगे भी हर सम्भव मदद देने का भरोसा दिया है। साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता मंटु ओझा ने भी घायलो के परिजनों को मदद पहुचाई है।