हसनपुरा में महिला की मौत मामले में दूसरे दिन भी नहीं हुई प्राथमिकी दर्ज

0
fir

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के एमएच नगर थाना के पचभिंडा में संदिग्ध परिस्थिति में अभिमन्यु कुमार मांझी की पत्नी रूबी देवी की मौत मामले में दूसरे दिन भी थाने में किसी पक्ष द्वारा आवेदन नहीं दिया गया है। वहीं पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप दिया जहां स्वजनों ने उसका दाह संस्कार कर दिया। बताया जाता है कि 18 फरवरी की रात्रि भोजन करने के बाद रूबी अपनी सात माह की बच्ची के साथ सो गई थी। रात्रि करीब दो बजे उसकी बच्ची रोने लगी। जब वह काफी देर रोती रही तो मृतका की सास मीरा देवी की नींद खुली। जब वह अपनी बहू के कमरे में गई तो पाया कि रूबी देवी अचेतावस्था में पड़ी थी। उसने इसकी सूचना आसपास के लोगों को दी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना थाने को दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो रूबी को मृत पाया। इसके बाद पुलिस घटना की जांच में जुट गई। पुलिस के आने के पूर्व मृतका के ससुराल पक्ष के सोनू कुमार एवं गोलू कुमार फरार थे। बाद में पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा मृतका के भसुर को सौंप दिया, जहां स्वजनों ने उसका दाह संस्कार कर दिया गया। समाचार प्रेषण तक मृतका के मायके वाले नहीं पहुंचे थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

बताया जाता है कि मृतका रूबी देवी रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के आदमापुर निवासी हरिराम चौरसिया की पुत्री थी। वह दो वर्ष पूर्व पचभिंडा निवासी अभिमन्यु कुमार मांझी के साथ प्रेम विवाह की थी। उसे सात माह की पुत्री है। पति व ससुर बाहर काम करते हैं। बताया जाता है कि मृतका के मायके वाले दिल्ली में रहते हैं जो रूबी देवी की मौत की सूचना मिलते ही गांव के लिए चल दिए थे। थानाध्यक्ष अभिषेक कुमार ने बताया कि मृतका के स्वजनों के आने का इंतजार हो रहा है। आवेदन मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।