हुसैनगंज के अफरोज हत्याकांड में आधा दर्जन पर प्राथमिकी दर्ज

0

वर्चस्व की लड़ायी में अफरोज को मारी थी गोली

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

परवेज अख्तर/सिवान :
जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के शंकरपुर गांव निवासी स्व. मो. अली उर्फ आलिम अंसारी के पुत्र अफरोज अंसारी को शुक्रवार की रात्रि अपराधियों ने सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मामले में मृतक के भाई सलाउद्दीन अंसारी ने थाना में प्राथमिकी का आवेदन दिया है. आवेदन में कहा है कि मैं और मेरा भाई अफरोज अंसारी शुक्रवार की रात्रि खाना खाने के बाद अपने दरवाजे पर टहल रहे थे. उसी दौरान तीन मोटरसाइकिल, जिसमें एक डिस्कवर जिसका नंबर बीआर29 आर4328 तथा एक लाल रंग की अपाची बिना नंबर की तथा एक काला रंग का स्प्लेंडर था. उस मोटरसाइकिल पर सल्लू मियां पिता मुंशी मियां, फहीम मियां पिता तौहीद खान, मुमताज मियां पिता भुलि मियां सभी प्रतापपुर तथा मो. जावेद पिता अली अकबर खान, नेसार आलम पिता नैमुल खान सभी ग्राम मचकना तथा तीन अज्ञात व्यक्ति मेरे दरवाजे पर आए और सभी अपने हाथों में पिस्टल तथा राइफल लिए हुए थे. आते ही गाली देते हुए गोली मारने की बात कही.

इसके बाद सल्लू मियां तथा मुमताज मियां पिस्टल से फायर हमलोगों पर फयर कर दिए. आवेदन में कहा है कि गोलीबारी के बाद वह नहर में कूदकर अपनी जान बचाया. सभी फायर कर रहे थे और फायर करते हुए वहां से चले गए. जाने के कुछ देर बाद अफरोज अंसारी को घायल अवस्था में इलाज के लिए सदर अस्पताल सीवान ले गए. वहां गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने अफरोज अंसारी को बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया. जहां पटना ले जाने के क्रम में उसकी मौत हो गयी. थानाध्यक्ष रामबालक यादव ने बताया कि आवेदन के आधार पर थाना कांड संख्या 129/2021 धारा 302/34 जीपीसी तथा 27 आर्म एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है.