सिवान में खुलेगा पहला आधुनिक सुविधाओं से लैस प्लस टू स्कूल, OBC छात्राओं को मिलेगा लाभ

0

परवेज अख्तर/सिवान: बिहार के सिवान जिले में पहली बार आधुनिक सुविधाओं से लैस प्लस टू विद्यालय खुलने जा रहा है. हालांकि इस विद्यालय में सभी वर्ग के बच्चे या बच्चियां हिस्सा नहीं ले सकेंगी. यह सिर्फ ओबीसी वर्ग के बच्चियों की पढ़ाई के लिए रहेगा. विभागीय अधिकारियों के द्वारा आकलन किया जा रहा है कि ओबीसी कन्या प्लस टू विद्यालय को बनवाने में लगभग 46.35 करोड़ रुपया लगात की अनुमान है. इस विद्यालय में बच्चियों के फिटनेस को ध्यान में रखते हुए लेकर जिम की भी व्यवस्था विद्यालय में रहेगी. विद्यालय सीसीटीवी कैमरा से भी लैस रहेगा स्मार्ट क्लासेज लाइब्रेरी, कंप्यूटर वाईफाई सहित अन्य डिजिटल और नेटवर्किंग सुविधाएं भी उपलब्ध रहेंगे. जिसका उपयोग ओबीसी वर्ग की नामित बच्चियां पढ़ाई के दौरान कर सकेंगी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

10वीं और 12वीं कक्षा की होगी पढ़ाई

जिले में बनने वाले ओबीसी कन्या आवासीय प्लस टू स्कूल में 11वीं और 12वीं कक्षा के लिए पढ़ाई होगी. यहां सिर्फ ओबीसी वर्ग की लड़कियों को पढ़ाई के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. विद्यालय में एडमिशन प्राप्त की हुई छात्रा ही सभी सुविधाओं का लाभ ले सकेंगी. वही सभी प्रक्रिया पूर्ण होते ही ओबीसी कन्या प्लस टू विद्यालय का निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा. तत्पश्चात विद्यालय और विभागीय नियमानुसार नोटिफिकेशन जारी कर बच्चियो का एडमिशन लिया जाएगा.

पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय प्लस टू स्कूल

बता दें कि सिवान में खुलने वाले ओबीसी कन्या प्लस टू स्कूल का निर्माण कार्य पिछड़ा वर्ग एवं अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के माध्यम से होगा. विद्यालय के खुल जाने से छात्राओं को काफी लाभ मिलने वाला है. वहीं पिछड़ा वर्ग के छात्राओं के अभिभावकों के पास पहले पैसा की कमी होने से उनकी पढ़ाई नहीं करा पाते थे. इसे देखते हुए राज्य सरकार पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय प्लस टू स्कूल का निर्माण कराने जा रही है. ताकि जो लोग पैसे तथा आर्थिक तंगी के शिकार है.

सीसीटीवी कैमरा समेत कई आधुनिक सुविधा

ओबीसी कल्याण विद्यालय आधुनिक सुविधाओं से लैस रहेगा ताकि बच्चियां आज के मॉडर्न युग के अनुरूप आधुनिक सुविधाओं का उपयोग कर बेहतर पढ़ाई कर सकेंगे. विद्यालय में सीसीटीवी कैमरा सहित अन्य उपकरण भी लगाए जाएंगे. जिसमें ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था रहेगी. प्रत्येक विद्यालय में स्मार्ट क्लास, मॉडर्न लैब, लाइब्रेरी, जिम की व्यवस्था रहेगी साथ ही साथ कंप्यूटर लैब की स्थापना किया जाए. वाई-फाई की भी सुविधा रहेगी

पिछड़े वर्ग के छात्राओं को मुख्यधारा में लाना

मीडिया से बातचीत में जिला कल्याण पदाधिकारी अरविंद कुमार ने बताया कि ओबीसी कन्या प्लस टू विद्यालय के खुल जाने से छात्राओं को काफी लाभ मिलने वाला है. पिछड़े वर्ग के छात्राओं की पढ़ाई कई कारणों से नहीं हो पाती थी. जिसमें मुख्यतः आर्थिक स्थिति की तंगी रही. हालांकि इसको देखते हुए राज्य सरकार ने इस समस्या का समाधान करते हुए अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए कन्या आवासीय प्लस टू स्कूल का निर्माण कराने जा रही है.जिसका लाभ उन्हें शत प्रतिशत मिलेगा तथा अन्य पिछड़े वर्ग की बच्चिया भी पढ़ लिखकर राष्ट्र निर्माण में अपनी अहम योगदान देंगी.