यज्ञ स्थल से ग्रामीणों को बंधक बनाकर पांच लाख की लूट

0

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के असांव थाना क्षेत्र के शंकरपुर व मनिया गांव के बीच नहर समीप नव निर्माण शिव मंदिर में 11 जून से आयोजित होने वाले शिव रुद्र महायज्ञ के लिए चंदा स्वरूप मिले रुपयों की शनिवार की रात 14-15 की संख्या में आए हथियार बंद अज्ञात अपराधियों ने ग्रामीणों को बंधक बनाकर लूट कर ली। घटना को अंजाम देने के बाद सभी अपराधी आसानी से फरार हो गए। ग्रामीणों के अनुसार बोलेरो पर सवार होकर फरार हो गए। इस घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। ग्रामीणों ने लूट की घटना की सूचना असांव थाने को दी। सूचना मिलते ही आंदर इंस्पेक्टर मनोज कुमार एवं असांव थानाध्यक्ष परशुराम सिंह घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की, लेकिन पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली। सभी अपराधी भाग चुके थे। इस मामले में यज्ञ के कार्यकर्ता राधामोहन दास उर्फ त्यागी बाबा ने थाने में पांच लाख रुपये लूट लिए जाने की जानकारी दी, लेकिन आवेदन नहीं दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार मनिया एवं शंकरपुर गांव के बीच नवनिर्माण शिव मंदिर प्रांगण में 11 जून से होने वाले रुद्रमहायज्ञ के लिए स्थानीय लोगों द्वारा चंदा काट कर रुपये एकत्रित किए गए थे। ये रुपये पांच लाख के करीब थे। इन रुपयों को त्यागी बाबा ने अपने झोपड़ी में रखा था। इसी बीच करीब डेढ़ दर्जन की संख्या में हथियार से लैस अपराधी वहां पहुंचे और यज्ञ स्थल के बाहर सोए हुए ग्रामीणों को बंधक बना लिया। इसके बाद रुपयों के बारे में पूछताछ की तो ग्रामीणों ने बाबा के पास रुपये होने की जानकारी दी। इसके बाद अपराधियों ने वहां पहुंच कर त्यागी बाबा को बंधक बनाकर रुपये लूट लिए और फरार हो गए। इसके बाद इसकी सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंच कर पुलिस ने जांच की। इधर घटना से नाराज आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया कि शंकरपुर गांव में अब तक तीन घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन अभी तक पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली है। इस सबंध में थानाध्यक्ष परशुराम सिंह ने बताया कि ग्रामीणों द्वारा किसी प्रकार का आवेदन नहीं मिला है। रात में सूचना मिली थी, उस समय हमलोग गए हुए थे। घटना की विभिन्न बिंदुओं पर जांच की जा रही है।

11 जून को निकलनी है कलश यात्रा

मनिया व शंकरपुर गांव के बीच नव निर्माण शिव मंदिर के प्रांगण में श्रीएकादश शिव रुद्र पंचायत प्राण प्रतिष्ठात्मक महायज्ञ की तैयारी एक साल से बड़े ही जोर-शोर से चल रही थी, जिसमें पूरी तैयारी कर ली गई है। 11 जून की सुबह 8:00 बजे से कलश यात्रा बड़े ही धूमधाम से हाथी-घोड़े के साथ निकालने की तैयारी की गई थी, उससे पहले 9 जून की रात अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया है।

त्यागी बाबा के साथ दूसरी घटना

ग्रामीणों में चर्चा का विषय बना हुआ है कि राधा मोहन दास उर्फ त्यागी बाबा के साथ यह दूसरी घटना है। इसके पूर्व वर्ष 2001 में छितनपुर गांव में बाबा के देखरेख में भव्य महायज्ञ का आयोजन किया गया था। उस समय अपराधी रुपये लूटने के लिए उनके कुटिया में आग लगा दिए थे,लेकिन ग्रामीणों के सहयोग से सब कुछ ठीक-ठाक रहा। वहीं दूसरी घटना शिव मंदिर प्रांगण में दोहराया गया है। बाबा की जन्म भूमि असांव थाना के छितनपुर गांव में है। वर्तमान में ये समस्तीपुर में रहते हैं। किसी भी कार्यक्रम में बुलाने के लिए समस्तीपुर जाना पड़ता है।

बाबा के चार पहिया गाड़ी को भी किया है क्षतिग्रस्त

रुपये लूट कर भागने के दौरान अपराधियों ने त्यागी बाबा की खड़ी चार पहिया वाहन को अपराधियों ने अपने हथियार से क्षतिग्रस्त कर दिया है। वाहन के आगे वाले हिस्सा के मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया गया है।​

Loading...