सीतामढ़ी में बाढ़ का कहर, सुप्पी-रीगा पथ पर चढ़ा पानी, जनजीवन अस्त व्यस्त

0

पटना: सीतामढ़ी जिले के नये इलाके में बाढ़ का पानी प्रवेश कर रहा है। बागमती व अधवरा समूह की नदियां लाल निशान के ऊपर बह रही है। हालांकि जलस्तर में कमी है, लेकिन फिर भी बढ़ का पानी कई इलाके में फैला है। जिले के सात प्रखंड बाढ़ से प्रभावित है। इन प्रखंड के तीन दर्जन से अधिक पंचायत प्रभावित है। बाढ़ से सुरसंड प्रखंड के नगर पंचायत सहित 15 पंचायत के चार दर्जन गांव गांव बाढ़ से प्रभावित है। कुम्मा डायवर्सन पर पानी चढ़े रहने से मुश्किल से आवागमन हो रहा है। लखनदेई नदी का जलस्तर बढ़ने से निचले इलाके में पानी प्रवेश कर रहा है। वहीं बाजपट्टी प्रखंड का आधा दर्जन गांव मरमहा नदी के पानी से प्रभावित हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

चोरौत प्रखंड के पांच पंचायत के दो दर्जन गांव बाढ़ से प्रभावित है। वहीं पुपरी के दो पंचायत के आधा दर्जन गांव प्रभावित है। बेलसंड नगर पंचायत सहित प्रखंड नौ पंचायतों के एक दर्जन गांवों में मनुषमरा नदी का पानी निचले इलाके में फैल गया है। बेलसंड-सीतामढ़ी पथ में कोठी चौक से भोरहा तक व बेलसंड धनकौल पथ में सौली, सुंदरपुर व सौली मठ तक बाढ़ का पानी सड़क तीन फीट बह रहा है। वहीं तटबंध के अंदर आधा दर्जन गांव में बागमती नदी का पानी घुस गया है। वहीं मारर-छपरा पथ में डायवर्सन पर बाढ़ का पानी चढ़ जाने से निजी नाव से लोग आवागमन कर रहे है। डुमरा व रून्नीसैदपुर प्रखंड भी लखनदेई नदी के बाढ़ से प्रभावित है। बाढ़ के पानी से जिले के हजारों एकड़ धान की फसल दुबई है।