सिवान के गुठनी में चार लोगों की संदेहास्पद स्थिति में मौत, गांव में मचा कोहराम

0

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
जिले से सोमवार की अलसुबह एक मनहूस खबर सामने उभर कर आई है।यहां गुठनी थाने क्षेत्र के दो गांवों के चार लोगों की संदिग्‍ध हालात में मौत हो गई है।मृतकों के स्‍वजनों का कहना है कि ये चारों लोग शराब पीने के आदि थे। गांव में शराब बिकती है और आसानी से उपलब्‍ध है। स्‍वजनों ने साफ तौर पर कहा है कि रविवार की रात ये लोग शराब पीने गए थे। इसके बाद ही इनकी मौत हुई है। आशंका यह जताई जा रही है कि शराब जहरीली हो गई थी। डीएम ने कहा है कि सभी चार लोगों का पोस्‍टमार्टम कराया जाएगा। इसके बाद मौत की सही वजह सामने आएगी। मामले में अगर शराब का एंगल सामने आता है तो प्रशासन अपनी कार्रवाई करेगा। इस घटना के बारे में हम विस्‍तृत जानकारी जुटा रहे हैं। पूरी जानकारी के लिए खबर को रिफ्रेश करते रहें।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

अगल-बगल के चार गांवों के लोगों की मौत

सोमवार की सुबह जिले में इस बात की भी चर्चा चली कि चारों लोग पंचायत चुनाव जीतने वाले एक प्रत्‍याशी का भोज खाकर बीमार पड़े, हालांकि खुद मृतकों के स्‍वजन इस बात से इनकार कर रहे हैं। मरने वालों में शिवजी यादव, मनोज राम, अनवर मियां और दुखरन राम शामिल हैं। इनके स्‍वजनों ने घटना का पंचायत चुनाव से कोई ताल्‍लुक नहीं होने की बात कही है। मरने वाले में तीन लोग बेलौरी गांव के जबकि एक बेलौर गांव का रहने वाला है। ये दोनों गांव अगल-बलग में हैं। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

उत्तर प्रदेश बार्डर से सटी हुई है यह पंचायत

सिवान के डीएम अमित कुमार पांडेय ने बताया कि जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आती, कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। एक मेडिकल टीम का गठन सीएस यदुवंश शर्मा के नेतृत्व में किया गया है, जो गांव में पहुंच कर लोगों की जांच भी करेगी। अगर शराब का मामला सामने आता है तो निश्चित तौर पर जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी। इधर, इस घटना की सूचना मिलते ही मैरवा, दरौली और गुठनी थाना की टीम शराब के खिलाफ सर्च अभियान चला रही है। आपको बता दें कि यह पंचायत यूपी बॉर्डर से सटी है।

दो दिन पहले आया है पंचायत चुनाव का परिणाम

इस क्षेत्र में चार दिन पहले पंचायत चुनाव के लिए मतदान हुआ था। गुठनी प्रखंड की इस पंचायत के लिए मतगणना के परिणाम दो दिन पहले आए थे। इसके बाद पंचायत चुनाव के विजेता जीत की खुशी मनाने तो हारने वाले गम भुलाने में लगे थे। इस बीच एक साथ चार लोगों की मौत से गांव के सभी लोग हैरान हैं।