बिजली की जगह ‘शराब’ पैदा करता है जेनरेटर, तस्करों के नए तरीके कर देंगे हैरान

0

पटना: शराबबंदी के बाद बिहार में स्मगलर लगातार नए-नए तरीके ईजाद करके तस्करी करने में लगे हैं. जिसमें खुद के शरीर को शराब टंकी बनाने से लेकर बाइक की टंकी में शराब की सप्लाई करते हैं. ताजा मामला जेनरेटर से जुड़ा हुआ है, जो बिजली बनाने की जगह शराब उगल रहा है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

मामला कैमूर जिले के दुर्गावती टोल प्लाजा के समीप मुसहरी टोली के पास की बताया जा रहा है. जहां पुलिस ने कार्रवाई के दौरान डीसीएम ट्रक के ऊपर रखे डीसी जेनरेटर की तलाशी ली. उसके बाद पुलिस के होश उड़ गए. ऊपर से जेनरेटर और भीतर से शराब की पूरी टंकी. जी हां, डीसीएम ट्रक के अंदर लदे जेनरेटर में भारी मात्रा में विदेशी शराब की बरामदगी हुई.

पुलिस ने ट्रक के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है. शराब को दिल्ली से बिहार के मुजफ्फरपुर भेजा जा रहा था. इसी दौरान पुलिस ने जांच के दौरान उसे पकड़ा. गिरफ्तार ड्राइवर विकास कुमार सैदपुर गांव थाना भोजपुर जिला गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश) का बताया जा रहा है. गिरफ्तार आरोप ने बताया कि शराब को दिल्ली से डीसीएम ट्रक में लोड कर मुजफ्फरपुर ले जा रहा था और उसे एक चक्कर लगाने के 10000 रुपए मिलते थे.

सबसे बड़ी बात है कि शराब तस्कर होम अप्लाएंसेज और बाकी सामग्री फ्रीज, टीवी के साथ जेनरेटर समेत घरेलू सामानों की डिलीवरी करते हैं, उन्हीं के अंदर शराब भरी होती है. जो दिल्ली से डायरेक्ट मुजफ्फरपुर भेजी जाती है. पुलिस आरोपी ड्राइवर से और जानकारी निकाल रही है.

पुलिस के मुताबिक, दिल्ली से वाराणसी होते हुए कैमूर और उसके बाद ये लोग मुजफ्फरपुर यानी उत्तरी बिहार के कई जिलों में अपनी सप्लाई करते हैं. ड्राइवर को प्रति ट्रिप के दस हजार रुपये भुगतान किए जाते हैं.

इस संबंध में थानाध्यक्ष राजीव रंजन सिंह ने बताया कि टोल प्लाजा के समीप से वाहन जांच के दौरान एएलटीएफ की टीम और दुर्गावती पुलिस ने कार्यवाही करते हुए डीसीएम ट्रक से भारी मात्रा में शराब बरामद की है.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here