पिछड़ती गेहूं की बुआई में जीरोटीलेज सहायक

0
zero tillage

परवेज अख्तर/सिवान:- जिले के बड़हरिया प्रखंड की बहुआरा कादिर पंचायत के भलुआ गांव में कृषि समंवयक संजय कुमार साह की देखरेख में जीरोटीलेज मशीन से गेहूं की बुआई की गयी. इस अवसर पर कृषि समंवयक श्री साह ने बताया कि जीरोटीलेज तकनीक से खेती कर किसान कम लागत में अधिक उपज प्राप्त कर सकते हैं. उन्होंने बताया कि धान की कटाई के उपरांत बगैर खेत की जुताई किये जीरोटीलेज मशीन से गेहूं की बुआई की जाती है. इससे जुताई पर होने वाले खर्च की बचत होती है. इसके अतिरिक्त खेत की तैयारी करने में जो अतिरिक्त समय लगता है, जिसके कारण किसान समय पर गेहूं की बुआई नहीं कर पाते हैं. उन किसानों के लिए यह तकनीक वरदान जैसा है. क्योंकि इस तकनीक से खेती करने पर न केवल लागत कम आती है, बल्कि समय पर गेहूं की बुआई भी हो जाती है. इस अवसर पर आत्मा अध्यक्ष श्री रामबदन सिंह, मनोज सिंह, ललिता सिंह, अरुण कुमार सिंह, कमल किशोर सिंह, मशीन धारक बृज कुमार सिंह सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे. इस मौके पर किसान मनोज सिंह ने बताया कि खेतों में नमी होने के कारण खेतों की जुताई कर गेहूं की बुआई करने में काफी विलंब हो जाता. इसलिए हमलोगों ने जीरोटीलेज से गेहूं की बुआई का निर्णय लिया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
vigyapann
ads