बिहार के नियोजित शिक्षकों के लिए अच्छी खबर, जून से करा सकेंगे तबादला

0

पटना: प्रदेश के उन नियोजित शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है, जो स्थानातंरण की प्रतीक्षा कर रहे हैं। शिक्षा विभाग ने एनआइसी के सहयोग से सॉफ्टवेयर को तैयार कर लिया है। अगर सब कुछ सही दिशा में रहा तो अगले माह तबादले के इच्छुक शिक्षकों को सॉफ्टवेयर पर आवेदन मांगे जाएंगे, इसके लिए शिक्षा विभाग की ओर से दिशा-निर्देश भी जारी किया जाएगा। शिक्षा विभाग की माने तो स्थानातंरण प्रक्रिया में सबसे पहले महिला शिक्षकों एवं दिव्यांग शिक्षकों को आवेदन करने का मौका दिया जाएगा। ऐसे शिक्षक मई से आवेदन करेंगे और जून में स्थानातंरण के साथ पदस्थापन होगा। प्रदेश भर में महिला शिक्षकों व दिव्यांग शिक्षकों की संख्या 1.48 लाख है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

नियमावली की दी जा चुकी है स्वीकृति

शिक्षा विभाग की ओर से नियोजित शिक्षकों के स्थानातंरण एवं पदस्थान से संबंधित नियमावली की स्वीकृति दी जा चुकी है। बिहार विधानसभा का बजट सत्र में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने इसकी घोषणा करते हुए कहा था कि नियोजित शिक्षकों का स्थानातंरण एवं पदस्थापन की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। इस घोषणा पर शिक्षा विभाग अब तेजी से अमल करने में जुटा है। शिक्षकों से आवेदन लेने की प्रक्रिया क्या होगी और सॉफ्टवेयर पर किस तरह से लिया जाएगा, इससे संबंधित गाइडलाइन तैयार किया गया है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए शिक्षकों के स्थानांतरण एवं पदस्थापन में काफी सावधानी से प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। नियोजित शिक्षक शर्त नियमावली के अनुसार महिलाएं और दिव्यांगों को अपने सेवाकाल में एक बार अंतर जिला और अंतर नियोजन इकाई ट्रांसफर किया जा सकेगा।

जल्द ही शुरू की जाएगी प्रक्रिया

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि शिक्षकों के स्थानातंरण व पदस्थापन की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी। इसके लिए सारी पारदर्शी व्यवस्था अपनायी जा रही है। मई में शिक्षकों से आवेदन लिए जा सकेंगे और जून में तबादले की प्रक्रिया शुरू होगी। अंतर जिला और नियोजन इकाइयों के बीच ट्रांसफर पर सैद्धांतिक सहमति को सेवा शर्त में पहले ही शामिल किया जा चुका है।