गोपालगंज: कोविड वैक्सीन लेने से 32 परिवारों ने किया इंकार, स्वास्थ्य विभाग की टीम की जागरूकता से मिली सफलता

0
  • स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व सहयोगी संस्था प्रतिनिधियों ने किया जागरूक
  • उत्प्रेरित कर कराया गया टीकाकरण
  • टीका को लेकर ग्रामीणों में है तरह-तरह की अफवाहें

गोपालगंज: कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए टीकाकरण अभियान जोर-शोर से चलाया जा रहा है। टीका को लेकर अभी भी ग्रामीणों क्षेत्रों में भ्रांतियां व अफवाहें फैली हुई हैं| जिस कारण स्वास्थ्य कर्मियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। इसी कड़ी में गोपालगंज जिले के भोरे प्रखंड के छठियाव गांव के दुबे जिगना गांव में करीब 32 परिवारों ने कोरोना टीका लेने से इंकार कर दिया। टीका नहीं लेने के लिए ग्रामीणों ने तरह-तरह के बाते बतायी। जिस पर टीकाकर्मियों ने इसकी सूचना जिला मुख्यालय को दी। जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए जिला प्रखंड स्तरीय स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी व सहयोगी संस्थाओं के जनप्रतिनिधि पहुंचे। जिला मुख्यालय से यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमारी, प्रखंड प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, बीसीएम, ग्रामीण चिकित्सक, बीएमसी व आशा एएनएम के सहयोग से ग्रामीणों को प्रेरित (मोबलाइज) किया गया । काफी समझाने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम को सफलता मिली और प्रेरित होकर सभी ग्रामीणों ने अपना टीकाकरण कराया। इस दौरान यूनिसेफ के जिला समन्वयक रूबी कुमारी के द्वारा ग्रामीणों से अपील की गयी कि किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। कोविड का टीका पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है। कोरोना संक्रमण से बचाव में कारगर हाथियार साबित हो रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

WhatsApp Image 2021 06 03 at 5.47.33 PM

गांव स्तर पर चलाया जा रहा है जागरूकता अभियान

सिविल सर्जन डॉ. योगेंद्र महतो ने बताया पंचायत, प्रखंड व जिला स्तर पर विभिन्न माध्यमों के द्वारा भी सामुदाय के लोगों को कोविड-19 टीकाकरण के प्रति जागरूक किया जा रहा है। मस्जिद के इमाम एवं मंदिर के पुजारी द्वारा समुदाय के लोगों को कोरोना से बचाव तथा इससे सुरक्षित रहने के लिए अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। दूसरी ओर जिले के युवा भी टीकाकरण को लेकर उत्साहित हैं। लेकिन, जानकारी के अभाव में कई लोग यह सोच रहे हैं कि टीके का एक डोज लेने के बाद वह संक्रमण से बच सकते हैं। जो सरासर गलत है। वह गलतफहमी न पालें। जब तक कोई भी लाभार्थी टीके की दोनों डोज नहीं ले लेता, तब तक वह संक्रमण की संभावना से बचा नहीं जा सकता। इसलिए संक्रमण से बचने के लिए टीके की दोनों डोज आवश्यक है।

ऐसे रोकें संक्रमण का प्रसार

  • एक साथ 2 मास्क का प्रयोग करें
  • आंतरिक स्थानों पर वायु संचार सुनिश्चित करें
  • दूरी बनायें रखने की संभव प्रयास करें
  • साबुन से नियमित हाथ साफ़ करते रहें
  • कोविड मरीजों को अलग कमरे में रखें
  • सतहों को नियमित रूप से कीटाणुनाशकों से नियमित रूप से साफ़ करें