गोपालगंज: ताड़ी पीने के लिए बुलाया, तेजाब पिलाकर कर दी हत्या, पहले भी दो बार की गई थी कोशिश

0

गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज में एक युवक की लाश मिली है. उसे तेजाब पिलाकर मारा गया है. दिलदहला देनेवाली ये वारदात मांझागढ़ थाना क्षेत्र के झझवा गांव की है. पुलिस ने सोमवार को घटनास्थल से एक ग्लास में तेजाब बरामद किया है. मृतक युवक की पहचान हरवश राय के बेटे अरुण कुमार (27) के रूप में हुई है.

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

परिजनों का आरोप है कि अरुण कुमार सिंह की हत्या साजिश के तहत की गई है. अपराधियों ने उन्हें ताड़ी पिलाने के लिए फोन कर बुलाया था और उसे लेकर बागीचे में गए थे. बागीचे में अरुण को ताड़ी के बदले तेजाब पिलाया गया और उसकी हत्या कर दी गई. उसके शरीर पर कई जगह रॉड से हमले के निशान मिले हैं. तेजाब से चेहरा और गर्दन जला हुआ है. पुलिस ने तेजाब हमले की पुष्टि की है. हत्या के बाद रविवार देर रात में ही शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया. सोमवार को गांव में दाह-संस्कार किया गया.

हत्या की यह तीसरी कोशिश

अरुण कुमार सिंह पर पहले भी बम से हमला हो चुका है. परिजनों के मुताबिक 1 जनवरी 2019 में बम से हमला हुआ था. छह महीने पहले गोली मारी गई थी. इस हमले में भी उनकी जान बच गई थी. लेकिन उनके करीबी रहे रविंद्र सिंह की इलाज के दौरान मौत हो गई थी. तीसरी बार अपराधियों ने फिर से हत्या का प्लान बनाया और इस बार वे कामयाब हो गए. हत्या रविवार को हुई, लेकिन उन्हें शनिवार को ही अपराधी घर से बुलाकर लेकर गए थे.

पुलिस ने मांगी लिखित शिकायत

इधर, हत्या की जांच करने के बाद पुलिस ने कहा कि मृतक के परिजनों की ओर से अबतक लिखित शिकायत नहीं की गई है. पुलिस ने परिजनों से हत्या के मामले में एफआइआर के लिए आवेदन मांगा है. सदर एसडीपीओ संजीव कुमार ने कहा कि मौत के अलग-अलग कारणों की जांच की जा रही है. जिस व्यक्ति की हत्या हुई है, जमीन को लेकर पड़ोसियों का उनका विवाद चल रहा था. घटनास्थल से एक ग्लास में तेजाब मिला है, जिससे स्पष्ट हो पाया है कि युवक की पहचान छिपाने के लिए उसके चेहरे को तेजाब से जलाया गया है.

क्या है पूरा मामला

बता दें कि मांझागढ़ थाना क्षेत्र के झझवा गांव के रहनेवाले हरवश राय के बेटे अरुण कुमार सिंह को किसी ने शनिवार को कॉल कर घर से बुलाया और उसके बाद रविवार तक कोई अता-पता नहीं चला. रविवार की देर शाम परिजनों ने खोजबीन शुरू की तो गांव के बगीचे में ही उनका शव मिला. घटनास्थल पर ग्लास में तेजाब मिला है, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई. मांझा पुलिस ने स्थिति को तनावपूर्ण देखते हुए रात में ही पोस्टमॉर्टम कराया. हालांकि अबतक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.