गोपालगंज: थावे मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को नशा मुक्ति के प्रति किया जाएगा जागरूक, संकल्प लेंगे मंदिर के पुजारी

0
  • प्रसाद विक्रेता और मंदिर समिति के कर्मी चलायेंगे जागरूकता अभियान
  • सीनीयर डिप्टी कलक्टर ने मंदिर परिसर में की बैठक, दिलाया नशा नहीं करने का शपथ

गोपालगंज: ऐतिहासिक थावे मंदिर में श्रद्धालुओं व पर्यटकों को दर्शन करने के साथ ही नशा नहीं करने का संकल्प दिलाया जायेगा। मंदिर के पुजारी, मंदिर समिति के सदस्य व प्रसाद विक्रेताओं को ‘नशा मुक्त भारत’ अभियान में शामिल किया जायेगा। शनिवार को वरीय उप समाहर्ता सह सामाजिक सुरक्षा कोषांग की प्रभारी सहायक निदेशक पिंकी शर्मा ने मंदिर परिसर में अभियान की सफलता को लेकर बैठक की। जिसमें प्रसाद विक्रेताओं को निर्देश दिया गया कि मंदिर में आनेवाले श्रद्धालुओं को प्रसाद जिस ठोंगा में दिया जायेगा, उसमें नशा मुक्त अभियान का स्लोगन रहेगा। ताकि प्रसाद जिस घर में पहुंचे, वहां नशा मुक्त अभियान की जागरूकता फैलायी जा सके। प्रसाद विक्रेताओं ने स्लोगन के जरिये प्रसाद खरीदनेवाले श्रद्धालुओं को जागरूक करने की बात कही। वहीं मंदिर के पुजारियों को निर्देश दिया गया कि पूजा-अर्चना करने के साथ श्रद्धालुओं को रक्षा सूत्र बांधने के वक्त उन्हें नशा नहीं करने का संकल्प दिलाया जाये। परिवार के साथ आये श्रद्धालुओं को नशा नहीं करने का संकल्प दिलाने के साथ उन्हें उससे होनेवाले नुकसान के बारे में जानकारी दी जाये। मंदिर के पुजारियों ने एक सुर में श्रद्धालुओं को दर्शन व पूजा कराने के साथ नशा नहीं करने का संकल्प दिलाने की बात कही।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

नशा नहीं करने और लोगों को नशा करने से रोकने के लिए शपथ संकल्प दिलायी

मंदिर परिसर में पुजारियों, प्रसाद विक्रेताओं को वरीय उप समाहर्ता पिंकी शर्मा ने नशा नहीं करने और लोगों को नशा करने से रोकने के लिए शपथ संकल्प दिलायी। संकल्प लेने के बाद पुजारियों ने कहा कि रविवार से थावे मंदिर में आनेवाले श्रद्धालुओं को नशा नहीं करने और दूसरों को नशा के प्रति जागरूक करने के लिए शपथ दिलायी जायेगी। मौके पर मुख्य पुजारी सुरेश पांडेय, मास्टर वोलेंटियर अनवर हुसैन, अमरेंद्र दूबे, राजेन्द्र प्रसाद, विकास सिंह, मुन्ना पूरी, अजय यादव, मनीष पांडेय, अजित कुमार, सत्येन्द्र यादव, भोला बारी, मनोज कुमार और राजू गुप्ता सहित दुकानदार व पुजारी शामिल थे।

12 अप्रैल से शुरू हो रहा चैत्र नवरात्र

चैत्र नवरात्र इस बार 12 अप्रैल से शुरू हो रहा है। नवरात्र को लेकर लाखों की संख्या में श्रद्धालु थावे मंदिर में पूजा करने पहुंचते हैं। ऐतिहासिक मंदिर में पहली बार नशा मुक्त भारत अभियान की शुरुआत की गयी है। पडुकिया के साथ ‘नशामुक्त भारत’ का संदेश : थावे मंदिर का पडुकिया देशभर में मशहूर है। यहां आनेवाले श्रद्धालु पडुकिया को अपने घर प्रसाद के रूप में लेकर जाते हैं। ऐसे में पडूकिया के थैले व डब्बा पर भी जिला प्रशासन की ओर से जारी किये जानेवाले नशा मुक्त भारत का स्लोगन रहेगा, जो पडुकिया की मिठास के साथ-साथ लोगों को नशा के प्रति जागरूक करेगा।