गोपालगंज: कुत्तों ने स्वास्थ्य विभाग को लगाई एक लाख की चपत

0

अस्थाई इमरजेंसी वार्ड में लगे बेड को पहुंचाया नुकसान

गोपालगंज: बिहार में एक तरफ मरीज अस्पताल में बेड न मिलने से परेशान हैं वहीं कुत्तों ने बड़ा कारनामा कर दिया। बता दे कि सदर अस्पताल में बनाए गए अस्थाई इमरजेंसी वार्ड में लगे सात नए बेड को नोंचकर आवारा कुत्तों स्वास्थ्य विभाग को एक लाख रुपये की चपत लगा दी है। इतना ही नहीं, अस्थाई इमरजेंसी वार्ड के बेड को क्षतिग्रस्त कर कुत्ते उस पर बैठकर आराम फरमाते रहे। बाद में बेड पर बैठे कुत्तों पर नजर पड़ने पर उन्हें भगाया गया। स्वास्थ्य कर्मियों की लापरवाही के कारण विभाग को बड़ा नुकसान हुआ है। कोरोना की दूसरी लहर में सांस लेने की तकलीफ से संबंधित मरीजों की संख्या अचानक सदर अस्पताल में बढ़ गई थी। मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण इमरजेंसी वार्ड फुल हो गया, जिसे देखते हुए टेंट लगाकर अस्थाई इमरजेंसी वार्ड बनाया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इस अस्थाई इमरजेंसी वार्ड में मरीजों को भर्ती करने के लिए 25 नए बेड लगाए गए हैं। वही अब कोरोना की लहर कुछ थमने के बाद अस्थाई वार्ड में मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। खाली पड़े अस्थाई इमरजेंसी वार्ड में लगे बेड पर चढ़कर आवारा कुतों ने आराम फरमाने के साथ ही सात बेड को नोंचकर क्षतिग्रस्त कर दिया। कुछ देर बाद बेड पर बैठे कुत्तों पर नजर पड़ने पर इसकी जानकारी स्वास्थ्य कर्मियों को मीडिया कर्मियों ने दी। वही सूचना मिलने के बाद आनन फानन में बेड पर बैठे कुत्तों को स्वास्थ्य कर्मियों ने भगा दिया। इस संबंध में पूछे जाने पर अस्पताल प्रबंधक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि अस्थाई इमरजेंसी वार्ड में लगे बेड को हटाने का कार्य किया जा रहा है। कुछ बेड के गद्दा आवारा कुत्तों के द्वारा नोंचा गया है। फिलहाल घटना से स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। एक तरफ मरीज बेड के लिए परेशान हैं दूसरी तरफ कुत्ते बेड को नोंच रहे हैं।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here