गोपालगंज:- भोरे में बेटे ने की पिता की चाकू गोदकर निर्मम हत्या

0

गोपालगंज: जिले के भोरे थाना क्षेत्र के रामपुर चकरवा गांव से सनसनी खबर सामने आई है, जहां दौलत के नशे में अंधे होकर इंसान से हैवान बने बेटे ने अपने पिता की चाकू गोदकर निर्मम हत्या कर दी, आरोपी ने इतना ही नहीं वारदात के दौरान पिता की चाकू से आंखें भी निकाली, और वारदात को अंजाम देने के बाद पति पत्नी दोनों घर छोड़ कर फरार हो गए।घटना के संबंध में बताया जाता है कि आरोपी बेटा और बहु, 4 साल से बूढ़े माता-पिता को अलग कर अकेले पक्के के चारदीवारी के अंदर रहकर मौज मस्ती किया करते थे, जबकि बुजुर्ग माता-पिता अपनी एक पुत्री के साथ झोपड़े में आज 4 साल से अपना जीवन बसर कर रहे थे,इसी बीच पुत्री की शादी अपाहिज पिता के कंधों पर एक भार था, बीच में कई बार पंचायत के दौरान पुत्र को पिता ने समझाने की कोशिश की, पंचायत की बातों को भी अनदेखी कर यह अपने बुजुर्ग माता-पिता पर कहर ढाता रहा, इसको लेकर पूर्व में भी स्थानीय थाने में आरोपित की माता के द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई लेकिन इस हैवान बने बेटे ने अपने रवैया नहीं बदला, पुलिस के घर जाने के बाद, यह अपने माता पिता को प्रताड़ित करता था.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

बेटे के रवैया को देख मायूस पिता अपनी पुत्री के हाथ पीला करने के लिए अपने पैतृक संपत्ति में से 3 कट्ठा जमीन किसी दूसरे को बिक्री कर दी।जमीन बिक्री किए जाने की खबर मिलने के बाद बौखलाए बेटे ने पिता को मारने के लिए अटैक किया लेकिन उमस भरे मौसम के कारण आसपास के ग्रामीण को भनक मिल गई,और इसके मंसूबों पर ग्रामीणों ने पानी फेर दिया।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बताया जाता है कि घटना रात्रि 2:00 बजे की है ठंड के कारण सभी लोग अपने घरों में दुबके हुए थे,कि इसी बीच अनवर अंसारी उर्फ बहारन मिया और उनकी पत्नी ने बथान में सोए अपने पिता पर लगातार हाथ में लिए चाकू से कई बार प्रहार कर दिया जिस कारण पिता की दाहिनी आंख बाहर निकल गई. वही पति की आवाज सुन पत्नी और बेटी जैसे दौड़ी गई कि आरोपी बेटा और बहु दोनों पीछे के रास्ते से भाग निकले.

यह देख पुत्री लैला खातून चिल्लाई तो अगल-बगल के लोग दरवाजे पर पहुंचे, वहीं ग्रामीणों के द्वारा स्थानीय भोरे थाने की पुलिस को सूचना दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से जख्मी बुजुर्ग व्यक्ति सोबराती मियां को इलाज के लिए भोरे रेफरल अस्पताल भर्ती कराया. जहां से स्थिति नाजुक देखते हुए भोरे रेफरल अस्पताल के डॉक्टरों ने जख्मी बुजुर्ग को बेहतर इलाज के लिए गोपालगंज सदर अस्पताल रेफर कर दिया, वही गोपालगंज सदर अस्पताल से डॉक्टरों ने स्थिति को चिंताजनक देते हुए पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया, परिजनों के द्वारा जैसे ही जख्मी व्यक्ति को इलाज के लिए पटना की तरफ बढ़े कि बीच रास्ते में ही जख्मी व्यक्ति ने दम तोड़ दिया, वहीं इस मामले में भोरे थाना अध्यक्ष सुभाष सिंह ने परिजनों के बयान पर आरोपी बेटे और बहू की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी तेज कर दी है।